देश के कई राज्यों में मानसून की बेरुखी, खरीफ फसलों की बुवाई 9 फीसदी पिछड़ी - Karobar Today

Breaking News

Home Top Ad

Post Top Ad

Sunday, July 22, 2018

देश के कई राज्यों में मानसून की बेरुखी, खरीफ फसलों की बुवाई 9 फीसदी पिछड़ी


ई दिल्ली। चालू खरीफ सीजन में देश के कई राज्यों में मानसून की बेरुखी का असर फसलों की बुवाई पर पड़ा है। खरीफ की प्रमुख फसल धान, दलहन, तिलहन के साथ ही मोटे अनाज और कपास की बुवाई पिछे चल रही है। देशभर में अभी तक 631.53 लाख हैक्टेयर में ही खरीफ फसलों की बुवाई हो पाई है जबकि पिछले साल की समान अवधि में इनकी बुवाई 696.35 लाख हैक्टेयर में हो चुकी थी।
भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के अनुसार चालू खरीफ सीजन में पहली जून से 20 जुलाई तक उत्तर प्रदेश में 46 फीसदी कम, बिहार में 48 फीसदी कम और झारखंड में 42 फीसदी तथा पूर्वोतर के राज्यों में बारिश में भारी कमी आई है। इसी का असर फसलों की बुवाई पर पड़ा है। 
कृषि मंत्रालय के अनुसार खरीफ की प्रमुख फसल धान की रोपाई चालू खरीफ में अभी तक केवल 156.51 लाख हैक्टेयर में ही हो पाई है जबकि पिछले साल इस समय तक इसकी रोपाई 178.73 लाख हैक्टेयर में हो चुकी थी। इसी तरह से चालू खरीफ सीजन में दालों की बुवाई घटकर 82.41 लाख हैक्टेयर में ही हुई है जबकि पिछले साल इस समय तक 100.04 लाख हैक्टेयर में दालों की बुवाई हो चुकी थी। खरीफ दलहन की प्रमुख फसलों अरहर और उड़द की बुवाई पिछे चल रही है जबकि मूंग की बुवाई पिछले साल की समान अवधि की तुलना में थोड़ी अधिक हुई है। 
मोटे अनाजों की बुवाई भी पिछड़ कर चालू खरीफ में अभी तक 118.84 लाख हैक्टेयर में ही हो पाई है जबकि पिछले साल इस समय तक मोटे अनाजों की बुवाई 132.88 लाख हैक्टेयर में हो चुकी थी। मोटे अनाजों में मक्का की बुवाई जरुर चालू सीजन में थोड़ी बढ़कर 61.35 लाख हैक्टेयर में हो चुकी है जबकि पिछले साल इस समय तक इसकी बुवाई 61.32 लाख हैक्टेयर में ही हुई थी। बाजरा की बुवाई चालू सीजन में घटकर अभी तक केवल 40.66 लाख हैक्टेयर में ही हुई है जबकि पिछले साल इस समय तक 54.87 लाख हैक्टेयर में बाजरा की बुवाई हो चुकी थी।
खरीफ तिलहनों की बुवाई भी चालू खरीफ में घटकर अभी तक केवल 123.58 लाख हैक्टेयर में ही हो पाई है जबकि पिछले साल इस समय तक इनकी बुवाई 123.69 लाख हैक्टेयर में हो चुकी थी। हालांकि सोयाबीन की बुवाई जरुर चालू सीजन में बढ़कर 93.87 लाख हैक्टेयर में हो चुकी है जबकि पिछले साल इस समय तक सोयाबीन की बुवाई केवल 84.64 लाख हैक्टेयर में ही हो पाई थी। मूंगफली की बुवाई घटकर चालू सीजन में अभी तक केवल 23.01 लाख हैक्टेयर में ही हो पाई है जबकि पिछले साल की समान अवधि में मूंगफली की बुवाई 29.8 लाख हैक्टेयर में हो चुकी थी।
कपास की बुवाई भी चालू खरीफ सीजन में 11.09 फीसदी पिछे चल रही है। अभी तक देशभर में कपास की बुवाई केवल 91.70 लाख हैक्टेयर में ही हो पाई है जबकि पिछले साल इस समय तक इसकी बुवाई 104.27 लाख हैक्टेयर में हो चुकी थी। गन्ने की बुवाई चालू खरीफ सीजन में बढ़कर 50.52 लाख हैक्टेयर में हो चुकी है जबकि पिछले साल इस समय तक गन्ने की बुवाई 49.72 लाख हैक्टेयर में ही हो पाई थी।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad