केन्दीय उद्योग एवं लोक उद्यम मंत्री अनंत गीते, द्वारा एसी-001 एसी चार्जिग इनफ्रास्ट्रक्चर का लोकार्पण - Karobar Today

Breaking News

Home Top Ad

Post Top Ad

Friday, September 7, 2018

केन्दीय उद्योग एवं लोक उद्यम मंत्री अनंत गीते, द्वारा एसी-001 एसी चार्जिग इनफ्रास्ट्रक्चर का लोकार्पण




जयपुर। केन्दीय के भारी उद्योग एवं लोक उद्यम मंत्री, अनंत गीते द्वारा ई-गतिशीलता को बढ़ावा देने के लिए, -वाहनों के चार्जिग की सुविधा के लिए नई दिल्ली के द्वारका सैक्टर-10, मेट्रो स्टेशन पर रील द्वारा स्थापित किए गए एसी-001 एसी चार्जिग इनफ्रॉस्ट्रक्चर का लोकार्पण विश्वजीत  सहाय, संयुक्त सचिव, भारी उद्योग विभाग, भारत सरकार ए.के.जैन  प्रबन्ध निदेशक रील,  मंगू सिंह,  प्रबन्ध निदेशक, डी.एम.आर.सी. व अन्य गणमान्य अथितियों व अधिकारियों की उपस्थिती मे किया गया।
इस अवसर पर   गीते ने बताया कि आने वाला समय इलेक्टि्रक मोबिलिटी का है तथा इसे सफल बनाने के लिए भारत सरकार के भारी उद्योग विभाग ने फ़ेम स्कीम के तहत चार्जिग इनफ्रास्ट्रक्चर विकसित करने के प्रयास के अंतर्गत रील को दिल्ली, जयपुर एवं चंडीगढ़ मे 200 चार्जिग स्टेशन स्थापित करने की ज़िम्मेदारी दी है। इसी के अंतर्गत द्वारका सैक्टर-10, मेट्रो स्टेशन पर 18 चर्जिंग स्टेशन की स्थापना की गई है। जिसका लाभ ई-रिक्शा चालको को मिलेगा। श्री गीते ने रील के प्रयासो की सराहना करते हुए यह भी बताया कि यहाँ पर लगभग 400 ई-रिक्शा एक दिन में चार्ज हों सकते हैं। उन्होने यह भी कहा कि भारी उद्योग विभाग ने हाल ही मे रुचि कि अभिव्यक्ति (ईओआई) के माध्यम से चुनिंदा शहरों एवं विशेष श्रेणी के राज्यों को 455 इलैक्टि्रक बसें आबटिंत की है इसके अलावा, इस विभाग ने हाल ही में अहमदाबाद, हिमाचल प्रदेश और नवी मुंबई को 130 इलेक्टि्रक बसों के लिए कोष अनुमोदित किया है। साथ ही मंत्रीजी ने इस तथ्य से अवगत कराया कि प्रदूषण के स्तर मे कमी करने की तत्काल आवश्यकता को पहचानने और शहरो को स्वच्छ और पर्यावरण अनुकूल बनाने के लिए, सरकार फेम-11 स्कीम पर कार्य कर रही हैं, जो इलैक्टि्रक पावर ट्रेन पर आधारित जन-साधारण और सार्वजनिक परिवहन पर केन्द्रीत हैं।
इस अवसर पर कम्पनी के प्रबन्ध निदेशक ए.के.जैन ने केंद्रीय मंत्री व अन्य गणमान्य अथितियों व अधिकारियों का स्वागत किया और कम्पनी  के विभिन्न उत्पादों विशेषतः इलेक्टि्रक मोबिलिटी चार्जिग इनफ्रास्ट्रक्चर की सार्थक कार्य-प्रणाली तथा कंपनी के अन्य व्यावसायिक उत्पादों से अवगत कराया। जीवाश्म इंधनों पर निर्भरता कम करने और स्वच्छ पर्यावरण को बढ़ावा देने के लिए यह चार्जिग स्टेशन रील द्वारा स्थापित किया गया है। कंपनी ने अब तक 45 चार्जिग स्टेशन  को स्थापित कर दिया हैं एवं शेष का कार्य प्रगति पर हैं जो कि शीघ्र ही पूर्ण कर दिया जाएगा। सभी स्थापित 200 चार्जर्स को एप आधारित सेंट्रल मोनिटिं्रग सिस्टम से जोड़ा जाएगा जो कि प्रत्येक चार्जर की उपलब्धता एवं प्रदर्शन एवं परिचालन मापदण्डो की ऑनलाइन जानकारी देगा।
 जैन ने “शेपिंग इंडिया थ्रू इलेक्ट्रॉनिक्स, अक्षय ऊर्जा एवं आई.टी. सोल्यूशन्स” की प्रतिबद्धता को दोहराते हुए बताया कि उपक्रम द्वारा नवाचार को महत्व दिया जाता है। रील भारतीय अर्थव्यवस्था व समाज की प्रगति व विकास कि दिशा में कार्य कर रही है तथा राष्ट्रीय डेयरी योजना, सौर मिशन, मेक इन इंडिया, डिजिटल इंडिया, स्वच्छ भारत मिशन तथा डबलिंग फार्मर्स इन्कम जैसे भारत सरकार के विभिन्न मिशनों से संरेखित करते हुए प्रोद्योगिको को ग्रामीण लोगों तक ला रही है। रील प्रोद्योगिकी के माध्यम से शहरी क्षेत्र को भी कवर कर रही है।   

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad