महिंद्रा ने की पर्यावरणस्नेही डिजिटल अभियान की शुरुआत - Karobar Today

Breaking News

Home Top Ad

Post Top Ad

Wednesday, February 27, 2019

महिंद्रा ने की पर्यावरणस्नेही डिजिटल अभियान की शुरुआत



'Mahindra Launches Eco-Friendly Digital Campaign to Encourage People to #RiseAgainstClimateChange'


#RiseAgainstClimateChange के लिए जनजागृति की पहल

रद्दी कागज को रिसायकलिंग करके बनाई गई यह फिल्म वृक्षारोपण के जरिए पर्यावरण संरक्षण का सन्देश देती है

मुंबई। महिंद्रा ग्रुप ने एक नए डिजिटल कैम्पेन का शुभारम्भ करते हुए पर्यावरण की रक्षा के अपने दीर्घकालीन संकल्प की फिर एकबार पुष्टि की है।  इस नए डिजिटल कैम्पेन के जरिए वृक्षारोपण का सन्देश दिया जाएगा और लोगों को #RiseAgainstClimateChange अर्थात वातावरणीय बदलावों पर उपायों में एकजुट होकर शामिल होने के लिए प्रेरित किया जाएगा।  यह फिल्म सन्देश देती है कि, इस धरती पर सबसे कड़ी मेहनत करता है पेड़, स्वयं के लिए कुछ भी पाने की उम्मीद न रखते हुए वातावरणीय बदलावों के लिए दुनियाभर के पेड़ झगड़ रहे हैं।  "माध्यम ही सन्देश है" इस प्राचीन मान्यता को नयी ऊंचाई पर लेकर जाते हुए इस पूरी फिल्म को रद्दी कागज को रीसायकल करके बनाया गया है, इस तरह से पर्यवरण का सन्देश देनेवाली यह फिल्म अपने आप में भी पर्यावरण की रक्षा करती है, साथ ही कचरे पर पुनःप्रक्रिया का भी महत्त्व समझाती है।

महिंद्रा राइज के सभी डिजिटल चॅनेल्स पर आज इस अभियान की शुरुआत हो रही है।  इसे अधिकतम लोगों तक पहुंचाने के लिए सोशल मीडिया पर विभिन्न गतिविधियां, प्रतियोगिताएं, पर्यावरण सुरक्षा में अहम् भूमिका निभानेवाले एनवायरनमेंट चैम्पियन्स का सम्मान, कुछ चुनिंदा एनजीओज के साथ मिलकर अपने अपने इलाकों में सक्रीय होने के लिए लोगों को अवसर देना आदि कार्यक्रम चलाए जाएंगे।  इस तरह से आगे बढ़ते हुए इससे पर्यावरण संवर्धन का एक आंदोलन बनता जाएगा।

महिंद्रा ग्रुप के ग्रुप कॉर्पोरेट ब्रैंड के चीफ मार्केटिंग अफसर विवेक नायर ने बताया, "महिंद्रा अपने सामाजिक दायित्व के प्रति जागरूक और विश्वसनीय ब्रैंड है।  हमारी "राइज" नीति से हम समाज की भलाई करने के साथ साथ दूसरों को भी अच्छी और जरुरी बातों के लिए सक्रीय करते हैं, ताकि समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाया जाए।  आज पुरे दुनियाभर में पर्यावरण के मुद्दे को लेकर कई गतिविधियां चल रही है, उसी दिशा में हमारी यह फिल्म भी पर्यावरण संवर्धन के सन्देश को फैला रही है।"    

नायर ने आगे कहा, "#RiseAgainstClimateChange कैम्पेन के जरिए हम पर्यावरण की दुर्दशा का मुद्दा सभी की नजर में लाना चाहते हैं और हम यह भी चाहते हैं कि, भारी मात्रा में वृक्षारोपण करके इस मुद्दे पर लोग एकजुट हो जाए।  हमारे सन्देश को और अधिक प्रभावकारी बनाने के लिए हमने हमारी फिल्म के सेट्स सिर्फ पुनःप्रक्रिया किए हुए रद्दी कागज से बनाए ताकि हमारे सन्देश का हर एक पहलु अपने आप में पर्यावरण की रक्षा करे।"

महिंद्रा टीम ने भारत में सामाजिक समस्याओं पर सोशल मीडिया के जरिए विस्तृत अभ्यास किया। आश्चर्य की बात नहीं है कि,  मिलेनियल्स ने जलवायु परिवर्तन की समस्या को देश की दूसरी सबसे बड़ी चिंता बताया है,  ऑनलाइन बातचीत में  22% से अधिक बातचीत इस मुद्दे पर की जाती है।

माध्यमिक अनुसन्धान से सामने आए हुए निम्न तथ्यों के कारण यह अभियान और अधिक महत्त्वपूर्ण बना है:
  • वनों की कटाई का स्तर बहुत अधिक है।
  • पिछले कुछ दशकों में दुनिया के 80% जंगल नष्ट हो गए हैं या पूरी तरह से ख़राब हो गए हैं।
  • हम हर साल 18.7 मिलियन एकड़ जंगलों को खो रहे हैं, यह मात्रा 27 सॉकर मैदानों के बराबर है।
इस फिल्म में एनीमेशन का उपयोग किया गया है जहां हर चीज को पुनःप्रक्रिया किए हुए कागज से बनाया गया है जिसमें हाइवेज, पुल, कारखाने, पेड़ और यहां तक ​​कि धुँआ भी शामिल है।  चित्रों के बाद एक के पीछे एक आनेवाले वॉइसओवर में मनुष्य द्वारा पर्यावरण पर किए गए नकारात्मक प्रभावों को दिखाया जाता है और दूसरी ओर हमें दिखते हैं शांत और विनम्र पेड़ जो निरंतर कड़ी मेहनत करते हुए पर्यावरण को स्वच्छ रखने में मदद कर रहे हैं।  फिल्म के पूरा होने के बाद, पुनःप्रकृया किए गए कागज से निर्मित सेटों को काट दिया गया और इस अभियान के समग्र संदेश को बरकरार रखते हुए, उस कागज को खाद में परिवर्तित कर दिया गया।

अभियान के उद्देश्य और मूल संकल्पना के बारे में बताते हुए, महिंद्रा एंड महिंद्रा के उपाध्यक्ष समूह सीएसआर    सुशील सिंह ने कहा, महिंद्रा समूह पिछले लम्बे समय से विभिन्न पहलों के माध्यम से जलवायु परिवर्तन की रोकथाम के लिए प्रयास करता आ रहा है।  हमारे हरियाली कार्यक्रम में पिछले 12 सालों में 15 मिलियन से अधिक पेड़ लगाए गए हैं।  हम सब मिलकर पर्यावरण में सकारात्मक परिवर्तन ला सकते हैं और हमें आशा है कि, यह फिल्म न केवल जानकारी प्रदान करेगी बल्कि लोगों को सक्रीय होने के लिए प्रेरित भी करेगी।"
.
महिंद्रा के हरियाली कार्यक्रम, 2007 के बाद से भारत के कई विभिन्न इलाकों में 15 मिलियन से अधिक पेड़ लगाए गए हैं। इस कार्यक्रम ने न केवल देश के हरित क्षेत्र में काफी वृद्धि की है, बल्कि आजीविका के अवसरों को भी बढ़ाया है और कई स्थानीय समुदायों के लिए पोषण सुरक्षा का निर्माण किया है।

फिल्म को देखने के लिए लिंक:  http://bit.ly/HardestWorkersFilm


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad