महिलाओं की सेहत के लिए आईसीआईसीआई लोम्बार्ड ने किया ‘‘क्लैपिंग ग्लव्स‘‘ का आविष्कार - Karobar Today

Breaking News

Home Top Ad

Post Top Ad

Tuesday, March 12, 2019

महिलाओं की सेहत के लिए आईसीआईसीआई लोम्बार्ड ने किया ‘‘क्लैपिंग ग्लव्स‘‘ का आविष्कार



Pay parity, not recognition an issue at workplace say 62% women respondents, according to ICICI Lombard survey


मुंबई। 4 मार्च को समाप्त कुंभ मेले में भारत की प्रमुख सामान्य बीमाकर्ता कंपनी आईसीआईसीआई लोम्बार्ड ने महिलाओं की सेहत का मामला सीधे उनके हाथ में ही थमा दिया! जी हां, कुंभ मेले में शामिल श्रद्धालु महिलाओं की सहायता के मकसद से इस बार आईसीआईसीआई लोम्बार्ड ने उनकी सेहत से जुड़ी एक अनूठी पहल शुरू की, जिसे नाम दिया गया- रुबजाओ ताली सेहत वाली!
भजन-कीर्तन में भाग लेने वाली महिला तीर्थयात्रियों को ध्यान में रखते हुए आईसीआईसीआई लोम्बार्ड ने उनके समग्र स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के एक अनोखे विचार के साथ ‘क्लैपिंग थेरेपी’ का उपयोग किया। कंपनी ने एक ऐसे ‘‘क्लैपिंग ग्लव्स‘‘ को डिजाइन किया, जो कि अंदर के प्रोट्रूशियंस से लैस एक अभिनव उत्पाद है जो हर बार ताली बजाने के साथ शरीर के एक्यूप्रेशर बिंदुओं को सक्रिय करता है। इन महिलाओं में से अधिकांश महिलाएँ या तो गृहिणी हैं या भारी शारीरिक श्रम में शामिल औरतें हैं और जाहिर है कि उनके लिए अपना स्वयं का स्वास्थ्य प्राथमिकताओं की सूची में सबसे आखिर में आता है। अपनी सेहत को लेकर सरासर लापरवाही बरतने के कारण अनेक महिलाएं रूमेटिक, कोरोनरी और कई अन्य बीमारियों से पीड़ित हैं।
यह एक जाना-माना तथ्य है कि महिलाएँ अपने परिवार के स्वास्थ्य को सर्वाधिक प्राथमिकता देती हैं और अपनी सेहत से संबंधित मुद्दों को अनदेखा करती हैं। और यहां तक ​​कि भजन के दौरान जप या भाग लेने के दौरान, वे लंबे समय तक बैठते हैं जो सीधे उनके जोड़ों पर असर डालता है और समग्र रक्त प्रवाह को भी प्रभावित करता है। लेकिन प्रोट्रूशियंस से लैस ‘‘क्लैपिंग ग्लव्स‘‘ का इस्तेमाल करते हुए 20 मिनट तक लगातार ताली बजाने से एक्यूप्रेशर चिकित्सा की मदद से संपूर्ण रक्त परिसंचरण, पाचन, दृष्टि और अन्य महत्वपूर्ण अंग कार्यों में सुधार करने में मदद मिलती है। इसके अतिरिक्त, ये दस्ताने कुंभ में कड़ाके की ठंड के दौरान एक अच्छे आवरण के रूप में भी काम करते हैं।
इस साल 4 मार्च 2019 को समाप्त कुंभ मेले में लगभग 220 मिलियन लोग पवित्र नगरी प्रयागराज में पहुंचे। इनमें एक चौथाई संख्या महिला श्रद्धालुओं की थी। ऐसी सूरत में आईसीआईसीआई लोम्बार्ड के लिए यह एक अच्छा अवसर था जब कंपनी महिलाओं की मदद के लिए कदम उठाते हुए अपने नए अभियान रुबजाओ ताली सेहत वाली की शुरुआत कर सकती थी।
इस अभियान के बारे में जानकारी देते हुए आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस के कार्यकारी निदेशक,  संजीव मन्त्री ने कहा, “भारत में ग्रामीण महिलाएं हमेशा ही अपने रसोई घर, अपने बच्चों और अपने परिवार के साथ जुटी रहती हैं और इस तरह वे शायद ही कभी अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देती हैं। इनमें से अधिकांश महिलाएँ जो पवित्र स्थानों की यात्रा करती हैं, उन्हें इन घरेलू कामों से अनजाने में ही अवकाश मिल जाता है। हम बेहतर स्वास्थ्य संबंधी अपने अत्यंत महत्वपूर्ण विषय के तहत लाखों महिलाओं के स्वास्थ्य की रक्षा के लिए, कुंभ मेले के दौरान इस अवसर का उपयोग करना चाहते थे। विचार ताली बजाने के एक सामान्य कार्य को एक कल्याण कार्य में परिवर्तित करना था। कुंभ में हमें मिली जबरदस्त प्रतिक्रिया के साथ, अब हम इस पहल का विस्तार गुजरात और राजस्थान के ग्रामीण क्षेत्रों में भी कर रहे हैं। कुंभ के दौरान शुरू हुए इस अभियान में के तहत देश की महिलाओं को एक समय में एक ताली के साथ स्वस्थ करने का वादा किया गया है। हम प्रत्येक महिला से रुबजाओ ताली सेहत वाली का आग्रह करते हैं और उनके खुशहाल और स्वस्थ जीवन की कामना करते हैं।”
आईसीआईसीआई लोम्बार्ड का ‘‘क्लैपिंग ग्लव्स‘‘ अभियान कंपनी के स्वास्थ्य कार्यक्रम की छतरी के नीचे समग्र रुडूदडिफिकल्ट पहल का एक हिस्सा है, जिसका उद्देश्य जनता को बड़े पैमाने पर बढ़ावा देना, प्रोत्साहित करना और पुरस्कृत करना है, ताकि लोग स्वस्थ व्यवहार को अपना सकें।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad