यस बैंक में अतिरिक्त निदेशक (गैर-कार्यकारी गैर स्वतंत्र) के रूप में रविन्द्र कुमार खन्ना की नियुक्ति - Karobar Today

Breaking News

Home Top Ad

Post Top Ad

Sunday, April 28, 2019

यस बैंक में अतिरिक्त निदेशक (गैर-कार्यकारी गैर स्वतंत्र) के रूप में रविन्द्र कुमार खन्ना की नियुक्ति






मुंबई। भारत में निजी क्षेत्र के बैंक यस बैंक ने रविंदर कुमार खन्ना को अतिरिक्त निदेशक (गैर-कार्यकारी गैर स्वतंत्र) के रूप में नियुक्त करने की घोषणा की है। उनकी नियुक्ति तत्काल प्रभाव (26 अप्रेल 2019) से लागू हो गई है।  खन्ना की नियुक्ति की घोषणा के क्रम में निदेशक मंडल की मंजूरी के लिए नामांकन, और पारिश्रमिक समिति की सिफारिश और संयुक्त अनुशंसा पत्र 16 अप्रैल, 2019 को दोनों भारतीय साझेदारों से प्राप्त किया गया, अर्थात (1) राणा कपूर और (2) मधु कपूर, शगुन कपूर गोगिया और गौरव कपूर (कानूनी उत्तराधिकारी और स्वर्गीय अशोक कपूर के उत्तराधिकारी)। एसोसिएशन की शर्तों के अनुच्छेद 110 (बी) के अनुसार  खन्ना बैंक के बोर्ड में इंडियन पार्टनर्स रिप्रजेंटेटिव डायरेक्टर के तौर पर शामिल किए गए हैं।
कंपनी अधिनियम, 2013 की धारा 149, 152 के प्रावधानों के अनुसार येस बैंक के बोर्ड में एक अतिरिक्त निदेशक (गैर-कार्यकारी गैर स्वतंत्र) के रूप में  रविन्द्र कुमार खन्ना की 26 अप्रैल, 2019 से प्रभावी नियुक्ति बैंक की अगली वार्षिक आम बैठक में शेयरधारकों की मंजूरी के अधीन होगी।
 खन्ना को भारतीय उद्योग में 40 से अधिक वर्षों का अनुभव है। उन्होंने बल्लारपुर इंडस्ट्रीज लिमिटेड में प्रोसेस इंडस्ट्री में अपना करियर शुरू किया। बाद में उन्होंने अपनी कंपनियों- मैसर्स टेकक्राफ्ट (‘‘टेकक्राफ्ट‘‘) और मैसर्स क्विक फॉर्म स्ट्रक्चरल्स प्राइवेट लिमिटेड (‘‘क्विक-फॉर्म‘‘) को बढ़ावा दिया। टेकक्राफ्ट ने वर्ष 2000 में नोएडा (यूपी) में एक सॉफ्टवेयर प्रौद्योगिकी पार्क विकसित किया और वर्तमान में कंपनी भारत में विभिन्न बहुराष्ट्रीय कंपनियों को सॉफ्टवेयर विकास के लिए बुनियादी सुविधाएं प्रदान करती है। क्विक-फॉर्म प्री-इंजीनियर स्टील इमारतों के निर्माण में शामिल रही और इसने भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण, केंद्रीय लोक निर्माण विभाग और भारतीय रेलवे के साथ परियोजनाओं को क्रियान्वित किया है। खन्ना ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी), दिल्ली (1971) से बी टेक और फैकल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (एफएमएस), दिल्ली (1973) से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर्स डिग्री हासिल की हैं।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad