बैंगलुरू 2019 में एशिया पेसिफिक में सीमा-पार निवेश के लिए दस शीर्ष गंतव्यों के रूप में उभरा - Karobar Today

Breaking News

Home Top Ad

Post Top Ad

Wednesday, June 19, 2019

बैंगलुरू 2019 में एशिया पेसिफिक में सीमा-पार निवेश के लिए दस शीर्ष गंतव्यों के रूप में उभरा




CBRE  APAC Investor Intentions Survey 2019

2017-18 में बैंगलुरू में रियल एस्टेट में कुल 800 मिलियन डॉलर का निवेश किया गया, यह निवेश 2018-19 में सालाना दोगुना से भी अधिक था
भारत की ओर बढ़ते रूझानों का श्रेय पहले भारतीय आरईआईटी तथा इसके परिणामस्वरूप बाज़ार में बढ़ी पारदर्शिता को दिया जा सकता है।


नई दिल्ली। भारत की अग्रणी रियल एस्टेट कन्सल्टिंग फर्म सीबीआरई साउथ एशिया प्रा लिमिटेड के एशिया पेसिफिक इन्वेस्टर इन्टेशन्स सर्वे 2019 के अनुसार कर्नाटक की राजधानी बैंगलुरू को पहली बार एशिया पेसिफिक में सीमा-पार निवेश के लिए शीर्ष पायदान के दस गंतव्यों की सूची में शामिल किया गया है। सर्वेक्षण में पता चला है कि पहले आरईआईटी (एम्बेसी-ब्लैकस्टोन) के लॉन्च के बाद एपीएसी में भारत पांच प्रमुख बाज़ारों में से एक है, जहां बाज़ार में पारदर्शिता में सुधार हुआ है। इस रूझान के चलते बाज़ार में इन्फ्रास्ट्रक्चर एवं भावी विकास के अवसर उत्पन्न हुए हैं।

एम्बेसी ग्रुप और ब्लैकस्टोन ग्रुप एलपी द्वारा पहले आरईआईटी का लॉन्च इसी साल मार्च में किया गया और उम्मीद है कि यह देश में निवेश को प्रोत्साहित करेगा।

सर्वेक्षण के परिणामों पर अपने विचार अभिव्यक्त करते हुए अंशुमन मैगज़ीन, चेयरमैन एवं सीईओ, भारत, दक्षिण-पूर्वी एशिया, मध्यपूर्व एवं अफ्रीका, सीबीआरई ने कहा, ‘‘दुनिया भर में बढ़ती प्रतिष्ठा तथा कई अन्तर्राष्ट्रीय कोरपोरेट्स के लिए आधार होने के कारण बैंगलुरू पंसदीदा निवेश गंतव्यों की सूची में पहले भारतीय शहर के रूप में उभरा है। शहर में अभूतपूर्व प्रतिभा है तथा अपने विश्वस्तरीय इन्फ्रास्ट्रक्चर के चलते यह ऑफिस, रीटेल एवं रिहायशी सेगमेन्ट्स में निवेश के कई विकल्प पेश करता है।’’

एपीएसी क्षेत्र में भारतीय रियल एस्टेट बाज़ार की समग्र स्थिति पर बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘एपीएसी में निवेश की बात करें तो कार्यालय सम्पत्ति की ओर रूझान सबसे ज़्यादा हैं, इसके अलावा इंडस्ट्रियल एवं लॉजिस्टिक्स, मल्टीफैमिली, होटल एवं रीटेल भी निवेश के लिए पंसदीदा गंतव्य बने हुए हैं। भारत में निवेश के लिए अपार संभावनाएं हैं तथा लॉजिस्टिक्स सेक्टर में मांग और खपत तेज़ी से बढ़ रही है, खासतौर पर इससे बाज़ार में निवेशकों के लिए अवसर पैदा हो रहे हैं।’’

सर्वेक्षण के अन्य मुख्य परिणामः
-एपीएसी के लगभग सभी मुख्य क्षेत्रों में बिक्री के लिए निवेश योग्य स्टॉक की कमी निवेशकों के लिए बड़ी चुनौती बनी हुई है। हाल ही के वर्षों में दीर्घकालिक खरीददारों के द्वारा असंख्य संस्थागत-श्रेणी की सम्पत्तियों के अधिग्रहण से विकसित बाज़ारों खासतौर पर सिंगापुर, होंग-कोंग एवं जापान में सम्पत्तियों की उपलब्धता में बाधा आई है।
-निवेशकों के लिए मौजूदा जोखिम कारकों केे बावजूद खरीददार उंचे रिटर्न की उम्मीद कर रहे हैं तथा भारत जैसे उभरते बाज़ारों में वैल्यू-एडेड एवं अवसरवादी सौदों पर ध्यान केन्द्रित कर रहे हैं। इन बढ़ते रूझानों के कारण बैंगलुरू 2014 में शुरू हुए सर्वेक्षण में पहली बार सीमा पार निवेशकों के लिए शीर्ष पायदान के दस गंतव्यों की सूची में शामिल हो गया है।
-एपीएसी क्षेत्र में बड़ी संख्या में निवेशक इक्विटी लेने के बजाए सम्पत्तियों को किराए पर देने पर विचार कर रहे हैं।
-ऋण और मूल्य अनुपात गिरा है तथा बैंक रियल एस्टेट फाइनेन्सिंग के लिए अधिक संकुचित दृष्टिकोण अपना रहे हैं। एपीएसी में निवेशकेां को लुभाने वाले अन्य क्षेत्रों में शामिल हैं- एशिया में रिटायरमेन्ट लिविंग, जिन्हें बड़ी उम्र की आबादी का समर्थन प्राप्त है; क्लाउड कम्प्युटिंग के बढ़ते इस्तेमाल के कारण डेटा सेंटर; तथा जनसांख्यिकी लाभांश में बदलाव के कारण हेल्थकेयर।

बैंगलुरू के बारे में कुछ अन्य प्रमुख तथ्यः
बैंगलुरू भारत केे सबसे तेज़ी से विकसित होते शहरों में से एक है, जहां सूचना प्रोद्यौगिकी, जैव प्रोद्यौगिकी, फार्मास्युटिकल्स, मैनुफैक्चरिंग एवं अन्य सेक्टरों से महत्वपूर्ण खिलाड़ियों की सशक्त मौजूदगी है। पिछले दो दशकों में यह ‘पेंशनर्स पैराडाइज़’ से भारत की ‘सिलिकॉन वैली’ के रूप में बदल गया है तथा आज अनुसंधान एवं इनोवेशन के लिए मुख्य केन्द्र बन चुका है।

देश के प्रमुख निवेश गंतव्यों में से एक के रूप में विख्यात कर्नाटक कारोबार की सुगमता (ईज़ ऑफ डुइंग बिज़नेस) की दृष्टि से 2017 में देश में आठवें स्थान पर था तथा महाराष्ट्र और तमिलनाडू से आगे थे।
सामाजिक प्रगति सूचकांक 2017 पर कर्नाटक दिल्ली के बाद दूसरे स्थान पर आ गया।
कर्नाटक मशीन टूल्स उद्योग मेें अग्रणी राज्य है, बैंगलुरू अकेला (2018 में मूल्य की दृष्टि से) देश में 60 फीसद मशीन टूल्स का निर्माण करता है।
बैंगलुरू 2018 में मर्सर द्वारा जारी सूची ‘बेस्ट प्लेस टू लिव एण्ड वर्क’ में पहले स्थान पर रहा।
2017-18 में बैंगलुरू में रियल एस्टेट में लगभग 800 मिलियन डॉलर का निवेश किया गया, यह निवेश 2018 में सालाना दोगुना से भी अधिक हो गया। कॉमर्शियल सम्पत्ति निवेशकों की पहली पसंद थी।
बैंगलुरू 2018 में ‘कम्पास’ इन्फ्रास्ट्रक्चर द्वारा जारी ग्लोबल स्टार्ट-अप इकोसिस्टम ग्रोथ इन्डैक्स पर दूसरे स्थान पर था।

   



No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad