हीरो मोटोकॉर्प ने स्थापित किया वृक्षारोपण का कीर्तिमान - Karobar Today

Breaking News

Home Top Ad

Post Top Ad

Monday, July 22, 2019

हीरो मोटोकॉर्प ने स्थापित किया वृक्षारोपण का कीर्तिमान



देहरादून।हीरो मोटोकॉर्प, दुनिया की सबसे बड़ी दोपहिया वाहन निर्माता ने समाज की बेहतरी के लिए अपने अथक प्रयास में एक और महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की है। अपने कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी (सी एस आर) पहल के अंतर्गत, कंपनी ने आज देश में सात स्थानों पर एक विशाल वृक्षारोपण अभियान चलाया जिसके तहत 2.5 लाख से अधिक पेड़ लगाए गए। 
उत्तराखंड के देहरादून जिले में कंपनी द्वारा वृक्षारोपण अभियान - जिसमें 36 ग्राम पंचायतों और क्षेत्र के 15 वार्डों से 35,000 से अधिक परिवारों ने 2.1 लाख से अधिक पेड़ लगाए - को 'एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स' और 'इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स' द्वारा सत्यापित किया गया है और आधिकारिक तौर पर एक नए रिकॉर्ड - 'एक वृक्षारोपण अभियान में भाग लेने वाले अधिकतम परिवार' - के रूप में पंजीकृत किया गया है ।

विजय सेठी, सीआईओ, सीएचआरओ और प्रमुख - सीएसआर हीरो मोटोकॉर्प, शैलेन्द्र त्यागी ओ एस डी सी एम उत्तराखंड, एन पी माहेश्वरी प्राचार्य पं. ललित मोहन शर्मा गवर्नमेंट पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज ऋषिकेश, इस अवसर पर उपस्थित गणमान्य व्यक्तियों में शामिल थे। एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स और इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स के एडजूडिकेटर, डॉ. परवेज अहमद ने सेठी को नए रिकॉर्ड का अनंतिम प्रमाण पत्र सौंपा।

साथ ही कंपनी द्वारा नई दिल्ली, गुरुग्राम, धारूहेड़ा, नीमराना, जयपुर और हालोल में वृक्षारोपण अभियान चलाया गया।

इस अवसर पर टिप्पणी करते हुए विजय सेठी, सीआईओ, सीएचआरओ और हेड सीएसआर, हीरो मोटोकॉर्प ने कहा, “एक जिम्मेदार संगठन के रूप में हमारे कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व (सीएसआर) कार्यक्रमों को जीवनपर अधिक सकारात्मक प्रभाव डालने के लिए डिज़ाइन किया गया है। हमारी सीएसआर पहल का एक बड़ा हिस्सा हमारी पर्यावरण संबंधी आकांक्षाओं को पूरा करने की ओर जाता है जिसके एक हिस्से के रूप में हमने 2015 से देश भर में 14 लाख से अधिक पेड़ लगाए हैं। यह सत्य हमें पूर्णता का एहसास देता है कि 'एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स' और ' इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स ने विस्तृत हीरो परिवार और क्षेत्र के लोगों के प्रयासों को मान्यता दी है। यह पर्यावरण के संरक्षण की दिशा में आगे काम करने के लिए हमें प्रोत्साहित और प्रेरित करने वाला है। ”

एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स और इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स के एडिटर इन चीफ डॉ. बिश्वरूप रॉय चौधरी ने कहा, “सबसे पहले, हीरो मोटोकॉर्प और देहरादून जिले के नागरिकों को बहुत बधाई। हमें हीरो मोटोकॉर्प द्वारा इस नेक काम को प्रमाणित करने की खुशी है। रिकॉर्ड दिए गए दिशा-निर्देशों और बुक ऑफ रिकॉर्ड्स द्वारा न्यूनतम मानदंड के आधार पर दर्ज किया गया है। यह हमारे प्रकाशन में शामिल किया जा रहा एक नया रिकॉर्ड है और हमें उम्मीद है कि भविष्य में इस तरह के और रिकॉर्ड स्थापित किए जाएंगे। हीरो मोटोकॉर्प को पर्यावरण के संरक्षण के उनके प्रयासों में सदा सफल रहने के लिए शुभकामनायें । ​​”

एशिया बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स एक ऐसा मंच है जहाँ सभी प्रमुख राष्ट्रीय 'बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स' के रिकॉर्ड धारक जिनमें 'इंडिया बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स', 'वियतनाम बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स', 'इंडो-चाइना बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स', 'लाओस बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स' और 'नेपाल बुक ऑफ रिकॉर्ड्स' शामिल हैं, 'एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स' धारक बनने के लिए प्रतियोगिता और तुलना करते हैं। आज 'एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड' में 40,000 प्रविष्टियों का एक मजबूत डेटाबेस है।

इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स से संबद्ध है और नेशनल रिकॉर्ड बुक्स, हो ची मिन्ह सिटी, वियतनाम के मुख्य संपादकों की बैठक में आम सहमति के अनुसार एशियन प्रोटोकॉल ऑफ रिकॉर्ड्स (एपीआर) का अनुसरण करता है।

भारत में एक वैश्विक ऑटोमोटिव प्लेयर और इंडस्ट्री लीडर के रूप में हीरो मोटोकॉर्प एक सस्टेनेबल फ्यूचर बनाने में अपनी भूमिका के प्रति सजग है। कंपनी की विनिर्माण सुविधाएं महाद्वीपों में फैली हुई है और व्यापारिक उद्देश्यों को पूरा करते हुए पारिस्थितिक मानकों का उच्चतम स्तर बनाए रखती है जो एक स्थायी कल बनाने में मदद करती है।

हीरो मोटोकॉर्प की विभिन्न सीएसआर परियोजनाएं पर्यावरण, शिक्षा, लिंग समानता, स्वास्थ्य देखभाल, कौशल विकास, सड़क सुरक्षा, दिव्यांगों और खेलों पर विशेष रूप से केंद्रित रही हैं और इनमे 2015 के बाद से लगातार वृद्धि हुई है। हीरो मोटोकॉर्प का मानना ​​है कि जब आदमी, मशीन और प्रकृति एक साथ सद्भाव में काम करेंगे, वे न केवल किसी भी पर्यावरणीय प्रभाव को कम करेंगे, बल्कि एक स्थायी और विकसित पारिस्थितिकी तंत्र भी विकसित करेंगे।

‘हीरो - वी केयर’ के अंतर्गत हीरो मोटोकॉर्प एक हरी-भरी, सुरक्षित और समान दुनिया के निर्माण के लिए प्रतिबद्ध है। अपनी दृष्टि के अनुसरण में हीरो की चार प्रमुख पहल हैं:

राइड सेफ इंडिया: सड़क सुरक्षा के विषय पर जागरूकता फैलाने के लिए पहल है जिसमे दोपहिया सवार, कार यात्रियों, पैदल यात्रियों आदि को कवर किया जाता है । कंपनी सड़क सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न राष्ट्रव्यापी कार्यक्रम आयोजित करती है और कंपनी ने उत्तर प्रदेश सहित सात भारतीय राज्यों - हरियाणा, राजस्थान, तेलंगाना, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ - के पुलिस विभागों के साथ भागीदारी की है जिसके तहत 600 से अधिक दोपहिया वाहनों को इन पुलिस विभागों को सौंप दिया है। कंपनी ने हैदराबाद, गुरुग्राम, दिल्ली, लखनऊ, राउरकेला और नागपुरमें छह ट्रैफिक ट्रेनिंग पार्क भी अपनाए हैं। 

हैप्पी अर्थ:  यह हीरो के ‘मैन्युफैक्चरिंग हैप्पीनेस’ के दर्शन का एक विस्तार है जिसके तहत गार्डन फैक्ट्रियों का निर्माण किया जाता जहाँ न केवल बाइक बनाते हैं बल्कि पर्यावरण को भी संरक्षित किया जाता है । इस पहल के हिस्से के रूप में कंपनी इस ग्रह को मजबूत बनाने, कार्बन फुटप्रिंट को कम करने और इको-सिस्टम को पोषित करने में मदद कर रही है।

वीमेन एम्पावरमेंट (नारी सशक्तिकरण) के प्रति लक्ष्यित हीरो मोटोकॉर्प ने दो पहलें- ‘हमारी परी’ और ई २ (एजुकेट टू एम्पॉवर) - चलायीं जो देश में कम उम्र की लड़कियों और युवतियों के उत्थान की दिशा में काम करती हैं।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad