एक्ज़िम बैंक ने मनाया हिन्दी दिवस समारोह - Karobar Today

Breaking News

Home Top Ad

Post Top Ad

Tuesday, September 24, 2019

एक्ज़िम बैंक ने मनाया हिन्दी दिवस समारोह




 Exim Bank's Hindi Diwas Celebrations Graced  by Senior Journalist Rahul Dev and RJ Sayema

मुंबई। भारतीय निर्यात-आयात बैंक (एक्ज़िम बैंक) में 02 सितंबर से 20 सितंबर, 2019 तक हिन्दी दिवस समारोह मनाया गया। इस दौरान बैंक में हिन्दी का प्रयोग बढ़ाने और अधिकारियों को हिन्दी में काम करने के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। बैंक के मुंबई और नई दिल्ली स्थित कार्यालयों में पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया गया, जहां मुख्य अतिथि के रूप में क्रमशः वरिष्ठ पत्रकार और भाषा चिंतक श्री राहुल देव और रेडियो मिर्ची की मशहूर आरजे सायमा उपस्थित रहे। इस अवसर पर बैंक के प्रबंध निदेशक श्री डेविड रस्कीना नई दिल्ली कार्यालय में विशेष रूप से उपस्थित रहे। 
बैंक के अधिकारियों से चर्चा करते हुए आरजे सायमा ने कहा कि हमें अपनी रोज़मर्रा की ज़िंदगी में अपनी भाषा का इस्तेमाल करना चाहिए और इसमें हमें गर्व महसूस करना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमें हिंदी और अंग्रेजी के घालमेल से बचना चाहिए। सभी भारतीय भाषाओं की अपनी गरिमा है और हमें सभी भारतीय भाषाओं को बढ़ावा देते हुए उनका सम्मान करना चाहिए। उन्होंने भीष्म साहनी की एक कहानी सुनाते हुए जिंदगी का भी एक फलसफा भी दिया कि दिल की सुनो और वो करो, जिसमें खुशी मिलती है और जिसमें दूसरों का भला होता है।  
देश बचाना है तो भाषाओं को बचाइएः
बैंक के अधिकारियों से चर्चा करते हुए राहुल देव ने कहा कि मेरी चिंता सभी भारतीय भाषाओं को लेकर है। मैं अक्सर लोगों से पूछता हूं कि हममें से कितने लोग घर में अपने बच्चों से अपनी मातृभाषा में बात करते हैं। हममें से कितने लोगों के घरों में हिन्दी या क्षेत्रीय भाषा के अखबार आते हैं और कितने लोग अपने बच्चों को अपनी भाषा में कुछ पढ़ने को प्रेरित करते हैं?” उन्होंने चिंता जताई कि अंग्रेजी के बढ़ते प्रभुत्व के चलते हम अपनी संस्कृति भी को भूल रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमें देश को बचाना है तो अपनी भाषाओं को बचाना होगा।  
हिन्दी दिवस समारोह का शुभारंभ 02 सितंबर, 2019 को बैंक के प्रबंध निदेशक डेविड रस्कीना के संदेश द्वारा किया गया। उन्होंने सभी अधिकारियों को इन प्रतियोगिताओं में उत्साहपूर्वक हिस्सा लेने के लिए प्रोत्साहित करते हुए कहा कि ये प्रतियोगिताएं हिन्दी में काम करने के लिए प्रेरणा और प्रोत्साहन का माहौल बनाती हैं।  

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad