ओयो होटल्स एण्ड होम्स का संचालन 500 से अधिक शहरों में फेला - Karobar Today

Breaking News

Home Top Ad

Post Top Ad

Tuesday, September 10, 2019

ओयो होटल्स एण्ड होम्स का संचालन 500 से अधिक शहरों में फेला


OYO Hotels & Homes grow operations to over 500 cities in India


     

नई दिल्ली, भारत की सबसे बड़ी, चीन की दूसरी सबसे बड़ी, दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी तथा लीज़्ड एवं फ्रेंचाइज़्ड होटल्स, होम्स, लिविंग स्पेसेज़ और वर्कस्पेसेज़ की सबसे तेज़ी से विकसित होती चेन ओयो होटल्स एण्ड होम्स ने घोषणा की है कि इसने अपनी मौजूदगी का विस्तार भारत के 500 से अधिक शहरों में कर लिया है, कंपनी अपने प्रमुख घरेलू बाज़ार में अपनी मौजूदगी को सशक्त बनाने के लिए प्रतिबद्ध है।

मौजूदा बाज़ारों और महानगरों में कंपनी की पहुंच को बढ़ाने तथा भारत के छोटे शहरों, नगरों एवं लोकप्रिय पर्यटन गंतव्यों में अपने नेटवर्क को सशक्त बनाने के उद्देश्य के साथ कंपनी लगातार भारत में अपने विस्तार पर ज़ोर दे रही है। इसके परिणामस्वरूप ओयो ने 9000 से अधिक प्रत्यक्ष और 100,000 अप्रत्यक्ष नौकरियों के अवसर उत्पन्न किए हैं, ओयो ने 2020 तक इस संख्या को दोगुना करने का लक्ष्य तय किया है। 

इस उपलब्धि पर अपने विचार अभिव्यक्त करते हुए आदित्य घोष, सीईओ, भारत और दक्षिणी एशिया, ओयो होटल्स एण्ड होम्स ने कहा, ‘‘भारत में हमारे सतत प्रयास इस क्षेत्र के लिए हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाते हैं और बताते हैं कि यहां हम अन्तर्राष्ट्रीय महत्वाकांक्षाओं के अनुरूप प्रगति कर रहे हैं। ओयो होटल्स एण्ड होम्स में हम भारत और दक्षिणी एशिया में अपनी मौजूदगी को सशक्त बनाने के लिए प्रयासरत हैं, साथ ही न केवल महानगरों में बल्कि दूसरे, तीसरे और चौथे स्तर के शहरों में हर स्तर पर आर्थिक अवसर उपलब्ध कराना चाहते हैं। हम भारत के कुल अनब्राण्डेड होटलों और गेस्टहाउसेज़ का 5 फीसदी से कम हिस्सा बनाते हैं, ऐसे में वर्तमान में और भविष्य में इस क्षेत्र में विकास की अपार संभावनाएं हैं। हम अपने प्रॉपर्टी मालिकों, ओयोप्रेन्यूर्स एवं लाखों उपभोक्ताओं के प्रति आभारी हैं, जिन्होंने ओयो को चुना है। आने वाले समय में हम अपनी मौजूदगी को सशक्त बनाने के प्रयास जारी रखेंगे, हम सेवाओं की गुणवत्ता, होटल मालिकों की सफलता पर पूरी तरह से ध्यान केन्द्रित कर रहे हैं और देश के 500 से अधिक शहरों में फैले हमारे 18000 से अधिक होटलों में उपभोक्ताओं के अनुभव को बेहतर बनाने के लिए निरन्तर इनोवेशन्स कर रहे हैं।’’

भारत में 2019 के लिए लिंक्डइन के टॉप स्टार्ट-अप्स में नंबर वन (लगातर दूसरी बार) कंपनी के भारत में 10,000 से अधिक कर्मचारी हैं। इसके अलावा कंपनी ने फ्रंटलाईन स्टाफ को होटल मैनेजमेन्ट से जुड़े हर पहलु पर प्रशिक्षित करने के लिए भारत में 22 ओयो स्किल इन्सटीट्यूट स्थापित किए हैं। ओयो भारत में पहले से लिनेन, टॉयलेटरीज़ एवं अन्य होटल सप्लाई खरीदने वाला सबसे बड़ा खरीददार है, ऐसे में ओयो बड़े पैमाने पर इस खरीद के द्वारा कई सहायक उद्योगों को सक्षम बना रहा है और उनके स्थानीय कारोबार को बढ़ाने में मदद कर रहा है। हर महीने ओयो अपनी चेन के 270,000 एक्सक्लुज़िव कमरों के लिए 40 लाख से अधिक टॉयलेटरी किट्स इस्तेमाल करता है तथा 40,000 युनिट्स लिनेन खरीदता है।

महेश कुमार फ्रंट ऑफिस एक्ज़क्टिव ने कहा, ‘‘मैं उत्तरप्रदेश के एक छोटे से नगर से हूँ, मैं अपनी प्रतिभा और क्षमता को दर्शाने के लिए सही अवसर की तलाश में था। मेरी शैक्षणिक योग्यता सीमित है (कक्षा 12), मुझे खुशी है कि ओयो ने मुझे अपने एक ओयो स्किल इन्सटीट्यूट में कौशल प्रशिक्षण देने के बाद लखनऊ के एक होटल में फ्रन्ट डेस्क पर काम करने का अवसर दिया। अब मैं अच्छा कमा सकता हूँ, अपने परिवार को आर्थिक सहयोग दे सकता हूँ और ओयो में लम्बे करियर की उम्मीद रखता हूँ।’’

आगरा से ओयो दयाल लॉज के मालिक  अमोल धीर ने कहा, हमारे लॉज में चैक-इन करने वाले मेहमान हमारे लिए दोस्त और परिवार की तरह होते हैं। हम तीन पीढ़ियों से इस कारोबार में हैं, होटल को लेकर अपने पिता और दादा के दृष्टिकोण से मैं हैरान था। मैं 12 साल पहले इस होटल के साथ जुड़ा, होटल को लेकर मेरा नज़रिया मेरे पिता, मेरे दादा और मेरे परिवार से कहीं अधिक था। मुझे ऐसे सपोर्ट सिस्टम, ऐसे साझेदार की ज़रूरत थी जो मेरी मदद कर सके। एक दिन ओयो टीम हमारे पास आई और हमें अपने साथ जुड़ने की सलाह दी। मुझे लगा कि ये लोग मेरे दृष्टिकोण को साकार कर सकते हैं और एक साथ मिलकर हम निश्चित रूप से आगे बढ़ेंगे। ओयो आधुनिक टेक्नोलॉजी के साथ मेरे होटल में बड़े बदलाव लाई है। मैं घर बैठे अपने होटल की ऑक्युपेन्सी रिपेर्ट, एम्पलॉयी मैनेजमेन्ट, बुकिंग और रेवेन्यू रिपोर्ट चैक कर सकता हूँ। एक स्वतन्त्र होटल मालिक के रूप में ऐसा करना मेरे लिए आसान नहीं था। ओयो के साथ टेक्नोलॉजी अधिक सुलभ और किफ़ायती बन गई है। टेक्नोलॉजी के ज़रिए एक कारोबारी के रूप में हमारा जीवन बेहद आसान हो गया है। ओयो हमेशा से मेरा साझेदार है, इसने मुझे आगे बढ़ने और विकसित होने केे लिए अपार अवसर प्रदान किए हैं।’’


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad