इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक लिमिटेड ने नये वर्ष में सभी बचत खातों पर नॉन-मेंटनेंस चार्ज माफ किया - Karobar Today

Breaking News

Home Top Ad

Post Top Ad

Monday, January 6, 2020

इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक लिमिटेड ने नये वर्ष में सभी बचत खातों पर नॉन-मेंटनेंस चार्ज माफ किया


Equitas Small Finance Bank Limited waives off non-maintenance charges on all savings accounts in this New Year Offers up to 7.5% p.a. on Savings and up to 8.25% p.a. on Fixed Deposits (“FDs”)



बचत खातों पर 7.5 प्रतिशत सालाना और फिक्स्ड डिपॉजिट (‘‘एफडी’’) पर 8.25 प्रतिशत सालाना ब्याज तक की पेशकश

मुंबई,  इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक लिमिटेड (‘‘बैंक’’), जो 31 मार्च, 2019 के आंकड़ों के अनुसार बैंकिंग आउटलेट्स की संख्या की दृष्टि से भारत का सबसे बड़ा स्मॉल फाइनेंस (‘‘एसएफबी’’) है, ने नये वर्ष में सभी बचत खातों पर से नॉन-मेंटनेंस चार्ज को माफ कर दिया है। बैंक द्वा

रा ग्राहकों से ट्रांजेक्शन पर कम चार्ज भी लिया जा रहा है। इससे ग्राहकों को लाभ पहुंचने की उम्मीद है।
बैंक द्वारा सेविंग्स खातों पर 7.5 प्रतिशत सालाना और एफडी पर 8.25 प्रतिशत सालाना ब्याज की पेशकश की गई हैै और वरिष्ठ नागरिकों के लिए अलग से 0.60 प्रतिशत ब्याज और भी जुड़ जायेगा। आगे, सीनियर सिटीजंस के लिए परिपक्वता-पूर्व खाता बंद करने और आंशिक निकासी की भी अनुमति है। बैंक, इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक डेबिट कार्ड्स के साथ छूट व अन्य विशेष सुविधाएं भी उपलब्ध करा रहा है।
बचत खातों और एफडी में ब्याज दरों की पेशकश उन ग्राहकों के लिए है जो अपनी बचत पर अधिक पैसा पाना चाहते हैं। इन प्रोडक्ट्स से उन ग्राहकों को ब्याज दरों व एनएमसी के जरिए अपनी बचत पर अधिक कमाने में मदद मिलेगी।
मुरली वी., प्रेसिडेंट व कंट्री हेड - ब्रांच बैंकिंग, लायबिलिटीज, प्रोडक्ट एवं वेल्थ, इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक लिमिटेड ने कहा, ‘‘हम बैंकिंग आवश्यकताओं के अनुरूप सेवाएं प्रदान करते हैं। हम डिजिटल चैनल्स के जरिए भी प्रोडक्ट्स उपलब्ध कराते हैं, और अवसरों की पहचान के लिए तकनीक का इस्तेमाल करते हैं, ताकि हमारे लक्षित ग्राहक खंड को बेहतर सेवा प्रदान कर सकें। इस हेतु, हमने हमारे मोबाइल बैंकिंग एप्लिकेशन में ट्रांजेक्शन प्रमाणन हेतु फेशियल रिकॉग्निशन फीचर्स भी शामिल किया है।’’
संयोग से, बैंक ने फिस्कल 2018 से फिस्कल 2019 तक जमा में दूसरी सबसे तेज वृद्धि देखी (स्रोतः क्रिसिल रिपोर्ट)। 31 मार्च, 2017 तक इसकी जमा राशि 116.51 प्रतिशत सीएजीआर से बढ़कर 19,212.89 मिलियन हो गई, जो 31 मार्च, 2019 तक जव 90,067.36 मिलियन थी। 31 मार्च, 2019 तक, इसका वर्तमान बचत खाता अनुपात एसएफबी के बीच दूसरा उच्चतम था। भारत में, और कुल जमा अनुपात में इसकी खुदरा जमा राशि भारत मेंएसएफबी के बीच तीसरी सबसे अधिक थी (स्रोतः क्रिसिल रिपोर्ट)।
 मुरली वी ने आगे कहा, “हम अपने रिटेल डिपॉजिट और कासा डिपॉजिट बेस को बढ़ाने के लिए एक फ़ोकस के साथ अपने दायित्व फ्रैंचाइज़ी को और मजबूत करने का इरादा रखते हैं ताकि हमें एक स्थिर और कम लागत वाला फंड मुहैया कराया जा सके। हम अपने ग्राहक क्षेत्रों और विशेष रूप से बड़े पैमाने पर और बड़े पैमाने पर संपन्न ग्राहक क्षेत्रों से अधिक खुदरा जमा को आकर्षित करके इसे प्राप्त करना चाहते हैं। उदाहरण के लिए, हमने हाल ही में विभिन्न प्रकार के ग्राहकों के लिए विभेदित कासा उत्पादों को लॉन्च किया है, जैसे कि बड़े आय वाले जमाकर्ताओं के लिए ’विंग्स अकाउंट’ और उच्च आय वाले घरों के लिए ’एलीट प्रोग्राम’। हमने सेल्फी डिजिटल बचत खाता ’नामक एक ऑनलाइन खाता शुरू किया, जो संभावित ग्राहकों को ऑनलाइन बैंक खाता खोलने में सक्षम बनाता है।”


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad