फॉर्चूनेट 40: आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों की मदद के लिए फिटजी की एक अनोखी पहल - Karobar Today

Breaking News

Home Top Ad

Post Top Ad

Wednesday, January 15, 2020

फॉर्चूनेट 40: आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों की मदद के लिए फिटजी की एक अनोखी पहल






जयपुर, काबिल लेकिन आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग वाले छात्रों को आईआईटी-जेईई के लिए ट्रेनिंग देने के लिए देश के प्रीमियर इंस्टीट्यूट फिटजी द्वारा रविवार, 2 फरवरी 2020 को फॉर्चूनेट 40 प्रोग्राम आयोजित किया जाएगा।
यह प्रोग्राम जल्द ही नौवीं और ग्यारहवीं कक्षा में जाने वाले मेधावी छात्रों को आर्थिक रूप से मदद करता है जिनकी कुल पैतृक आय 10,000 रुपये प्रति माह से कम है। फिटजी इन मेधावी छात्रों को उनके सपनों के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए फिटजी प्रोग्राम के लिए 100% छात्रवृत्ति और छात्रावास शुल्क पर 100% छूट प्रदान करके उनकी तैयारी में मदद करता है। इंटीग्रेटेड स्कूल प्रोग्राम के लिए स्कूल का शुल्क छात्र से लिया जाएगा (कुछ स्थानों पर स्कूल शुल्क पर छात्रवृत्ति भी प्रदान की जा सकती है)। प्रत्येक स्थान पर, प्रत्येक प्रोग्राम के लिए फार्चुनेट 40 बैच में अधिकतम 40 छात्र होंगे।
आर्थिक समस्याओं के बावजूद पहले भी कई छात्रों को फिटजी के फार्चुनेट 40 के माध्यम से चुना गया और आईआईटियन बनने के उनके सपने को पूरा करने में मदद की गई। फिटजी के फार्चुनेट 40 टेस्ट के माध्यम से विजयवाड़ा के एमएसके मनोहर को फिटजी के पिनेकल प्रोग्राम में दाखिला लेने का मौका मिला और अपनी कड़ी मेहनत और फिटजी की कोचिंग से, उन्होंने जेईई एडवांस्ड, 2018 में अखिल भारतीय रैंक 5 हासिल किया।
2018 में अखिल भारतीय रैंक 5 हासिल करने वाले जेईई एडवांस्ड टॉपर एमएसके मनोहर ने कहा, “मेरे पिता दर्जी थे और ऐसी हालत में मेरे लिए आईआईटी के बारे में सोचना भी एक सपना था। जब मेरा सपना ख़त्म होने की कगार पर था, तो मैं फिटजी के फार्चुनेट 40 टेस्ट में शामिल हुआ और मुझे 100 प्रतिशत छात्रवृत्ति के साथ पिनेकल - टू इयर इंटीग्रेटेड स्कूल प्रोग्राम का ऑफर दिया गया। फिटजी ने मुझे न केवल अकादमिक बल्कि नैतिक और आर्थिक रूप से हर संभव तरीके से मदद की। आज भी मुझे यह सोचकर डर लगता है कि यदि फिटजी मेरे जीवन में सही समय में एक मसीहा के रूप में नहीं आया होता, तो आज मैं क्या कर रहा होता।’’
सभी बच्चों को उनकी कमजोर पृष्ठभूमि के बावजूद गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने की दृष्टि से फिटजी ने ‘फार्चुनेट 40’ प्रोग्राम को शुरू किया है। इस पहल ने पहले ही शिक्षा में समान और निष्पक्ष अवसर को बढ़ावा दिया है और छात्रों के बीच उनकी आर्थिक पृष्ठभूमि के आधार पर किसी भी तरह की असमानता को दूर किया है।
फिटजी के निदेशक आर. एल. त्रिखा ने कहा, ‘‘आईआईटी में प्रवेश की प्रतियोगिता समय के साथ कठिन होती जा रही है। यह बौद्धिक क्षमता वाले और मेधावी उम्मीदवारों के लिए भी एक आसान अभ्यास नहीं है, क्योंकि जेईई को क्रैक करने के लिए विधिपूर्वक कठोर प्रशिक्षण और मार्गदर्शन की बहुत आवश्यकता होती है और आर्थिक रूप से कमजोर पृष्ठभूमि वाले छात्र ऐसे कोचिंग कार्यक्रमों का अक्सर लाभ नहीं उठा पाते हैं। हमारा फार्चुनेट 40 प्रोग्राम ऐसे छात्रों के लिए इस बड़ी लीग में शामिल होने के लिए उन्हें प्रेरित करने के लिए शुरू किया गया है, जो आवश्यक मार्गदर्शन और प्रशिक्षण के अभाव में इस अवसर को खो सकते हैं। पिछले कुछ वर्षों में, हमारे द्वारा आर्थिक सहायता प्राप्त और प्रशिक्षित छात्रों में से कई छात्रों ने सफलता के नए मानदंड बनाए हैं और हमें काफी गर्वान्वित किया है।’’
‘चयन परीक्षा दिल्ली (दक्षिणी दिल्ली, पंजाबी बाग, द्वारका और पूर्वी दिल्ली), दिल्ली एनसीआर (फरीदाबाद, गाजियाबाद, गुड़गांव, नोएडा और ग्रेटर नोएडा), इलाहाबाद, अमृतसर, बैंगलोर, भिलाई, भोपाल, भुवनेश्वर, बोकारो, चंडीगढ़, चेन्नई, कटक, धनबाद, देहरादून, दुर्गापुर, गोरखपुर, ग्वालियर, हिसार, हैदराबाद, इंदौर, जयपुर, कानपुर, कोच्चि, कोलकाता, खड़गपुर, लखनऊ, मेरठ, मुंबई, नागपुर, पटना, पुणे, रांची, रायपुर, सलेम, शक्तिनगर एनटीपीसी, वडोदरा, वाराणसी, विजयवाड़ा, विशाखापत्तनम और वर्धा में केंद्रों पर आयोजित की जाएगी। टेस्ट आयोजित किये जाने वाले अन्य शहरों में त्रिची, कोरबा, गया और मुजफ्फरपुर शामिल हैं।
टेस्ट के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 1 फरवरी 2020 है और फार्चुनेट 40 बैच के लिए पात्र होने के लिए छात्रों को व्यक्तिगत विषय कट-ऑफ और साथ ही कुल कट-ऑफ को क्लियर करना होगा।




No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad