मर्सिडीज-बेंज इंडिया ने किया स्पेशल एडिशन 'इक्यू 1886' का उद्घाटन - Karobar Today

Breaking News

Home Top Ad

Post Top Ad

Wednesday, January 15, 2020

मर्सिडीज-बेंज इंडिया ने किया स्पेशल एडिशन 'इक्यू 1886' का उद्घाटन



Mercedes-Benz India kick-starts the new decade towards 'Sustainable Luxury'; launches its product and technology brand 'EQ', in India


मुंबई ।'इक्यू'('EQ') अर्थात "इलेक्ट्रिक इंटेलिजेंस" यह नाम "भावना और बुद्धि" इन ब्रांड मूल्यों पर से रखा गया है।
मर्सिडीज-बेंज भारत में 'सस्टेनेबल लक्ज़री' अर्थात पर्यावरण का संवर्धन करते हुए लक्ज़री के लिए योजना बना रहे है और ब्रांड इक्यू इस योजना का सबसे महत्वपूर्ण  आधारस्तंभ है।
जिस तरह से मर्सिडीज-बेंज यानि आधुनिक लक्ज़री, मर्सिडीज-मेबैच यानि असली और परम लक्ज़री और मर्सिडीज-एएमजी यानि ड्राइविंग परफॉर्मेंस, उसी तरह से 'इक्यू' भविष्य को दर्शाता है, यह मर्सिडीज-बेंज के 'सस्टेनेबल लक्ज़री' सिद्धांत का हिस्सा है।
इवी क्षेत्र में मर्सिडीज-बेंज इंडिया की नीतिक पहल और भारत में लक्ज़री इलेक्ट्रिक मोटरिंग स्थापित करने का संकल्प 'इक्यू' ब्रांड दर्शाता है।
इलेक्ट्रिक श्रेणी की शुरूआत पहले मॉडल इक्यूसी से की जाएगी, यह कार अप्रैल 2020 में आएगी, साथ ही ग्राहकों के लिए आकर्षक उत्पाद और सेवाएं पेश करने की कंपनी की योजना।
हमारे ग्राहक मानते हैं कि नवीनतम अनुभवों को खोजने और प्राप्त करने के लिए यही सबसे सही समय है।  2020 के लिए मर्सिडीज-बेंज का ब्रांड सिद्धांत ग्राहकों के इसी जूनून और उत्साह से प्रेरित होकर निश्चित किया गया है - "रेस्टलेस फॉर टुमारो" अर्थात "भविष्य के लिए आतुर" 
"रेस्टलेस फॉर टुमारो" अर्थात "भविष्य के लिए आतुर" यह सिद्धांत मर्सिडीज-बेंज इंडिया के कई रोमांचक और अनूठी सेवाओं की प्रेरणा बनेगा। इसमें 10 से ज्यादा उत्पादों की ऑफर्स, 100वें मर्सिडीज-बेंज आउटलेट का शुभारंभ, अभिनव ग्राहक सेवा पहल आदि शामिल होंगे। 
अपने कारखाने में पर्यावरण सुरक्षा और संवर्धन के लिए मर्सिडीज-बेंज कई प्रयास कर रहे है: इस तिमाही तक मर्सिडीज-बेंज इंडिया के कारखाने की कुल ऊर्जा जरुरत में से 45% ऊर्जा अक्षय ऊर्जा स्त्रोतों से मुहैया की जाएगी।  उसके लिए 4000 से भी ज्यादा सोलर पैनल्स लगाए जाएंगे। इस प्रकार से मर्सिडीज-बेंज इंडिया में हर साल करीबन 1.6 मेगावैट ऊर्जा का निर्माण किया जाएगा और उससे हर साल निर्माण होने वाले कार्बन डाय ऑक्साइड में 2600 टन की कटौती होगी।
पर्यावरण सुरक्षा और संवर्धन के अपने सभी प्रयासों के साथ 2020 तक मर्सिडीज-बेंज इंडिया 75% ग्रीन एनर्जी उत्पाद कारखाना बनेगा।  कार्बन न्यूट्रल बनने की कंपनी की वैश्विक महत्वाकांक्षा को पूरा करने की दिशा में यह एक बड़ा कदम होगा। 
कानून और नियमों के अनुसार पर्यावरण सुरक्षा के सभी नियमों का डीलरशिप नेटवर्क ने 100% पालन किया है।
पर्यावरणस्नेहि उत्पाद: सभी मर्सिडीज-बेंज कारें 85% रिसायकलेबल और 95% रिकवरेबल हैं।   
  देश की सबसे बड़ी लक्ज़री कार उत्पादक मर्सिडीज-बेंज ने पूरे ऑटोमोटिव उद्यम को चकित करते हुए अपना उत्पाद और तकनीक ब्रांड 'इक्यू' ('EQ') भारत में दाखिल किया है। ब्रांड 'इक्यू' उत्पाद और तकनीक इकोसिस्टम है जिसका लक्ष्य गतिशीलता के भविष्य को आकार देना है। मर्सिडीज-बेंज के दो ब्रांड तत्त्व "भावना" और "बुद्धि" पर से यह नाम रखा गया है। 'इक्यू' लक्ज़री सेगमेंट का पहला समर्पित इलेक्ट्रो मोबिलिटी ब्रांड है, इस ब्रांड की पहली कार 'इक्यूसी' ('EQC') अप्रैल 2020 में आएगी।
भारत में भविष्य की योजना बनाते हुए मर्सिडीज-बेंज ने 'सस्टेनेबल लक्ज़री' अर्थात पर्यावरण का संवर्धन और सुरक्षा करते हुए लक्ज़री का निर्माण इस सिद्धांत का स्वीकार किया क्या है और ब्रांड 'इक्यू' की शुरूआत उस योजना का प्रमुख आधार है। ब्रांड 'इक्यू' का भारत में उद्घाटन पुणे के चाकण में मर्सिडीज-बेंज कारखाने में मर्सिडीज-बेंज इंडिया के एमडी और सीईओ मार्टिन श्वेंक और मर्सिडीज-बेंज इंडिया के सेल्स और मार्केटिंग के वाईस प्रेसिडेंट संतोष अय्यर ने किया।
मर्सिडीज-बेंज इंडिया के एमडी और सीईओ मार्टिन श्वेंक ने बताया, "भारत में ऑटोमोबाइल के आविष्कारक और लक्ज़री मोबिलिटी के प्रथम अन्वेषक होने के नाते ब्रांड 'इक्यू' का उद्घाटन करते हुए हमें बहुत ख़ुशी हो रही है। ब्रांड 'इक्यू' भारत में लक्ज़री इलेक्ट्रिक मोटरिंग का नया युग लेकर आएगा। यह ब्रांड हमारे 'सस्टेनेबल लक्ज़री' उद्देश्य है अत्यंत महत्वपूर्ण आधारस्तंभ और भारत का पहला समर्पित लक्ज़री इलेक्ट्रिक ब्रांड है। भारत में इक्यू ब्रांड लाने के लिए यही सबसे सही समय है और इस ब्रांड का भारत में पहला उत्पाद इक्यूसी इवी होगा। हमें पूरा विश्वास है कि भारत के लिए हमारी इलेक्ट्रिक महत्त्वाकांक्षा की मजबूत नींव ब्रांड इक्यू बनाएगा। हमारी इसी महत्त्वाकांक्षा से हमारे ग्रीन कार पोर्टफोलियो का विस्तार किया जाएगा। भविष्य में हमारी प्रगति का यही मंत्र रहेगा।"

मार्टिन श्वेंक ने आगे कहा, "इक्यू ब्रांड भारत में लाकर हम गर्व से घोषित करते हैं कि मर्सिडीज-बेंज इलेक्ट्रो मोबिलिटी के नए युग में प्रवेश कर चूका है। हम चाहते हैं कि इक्यू ब्रांड इस तरह की इकोसिस्टम निर्माण करे जिसमें इलेक्ट्रिक मोबिलिटी विश्वसनीय, आसान और रोमांचक भी बने। ‘इक्यूसी एडिशन 1886’ में प्रगतिशील डिज़ाइन, रोमांचक ड्राइविंग डायनामिक्स और रोजाना उपयोग से भी ज्यादा उपयुक्त श्रेणी यह विशेषताएं होंगी। गाड़ी का निश्चिन्त और लम्बे समय तक उपयोग किया जा सकें इस उद्देश्य से हमने भारत में इक्यू ब्रांड दाखिल किया है।"

"रेस्टलेस फॉर टुमारो" (भविष्य के लिए आतुर)
वर्ष 2020 का मर्सिडीज-बेंज इंडिया का ब्रांड मंत्र "रेस्टलेस फॉर टुमारो" के बारे में मार्टिन श्वेंक ने कहा, "हमारे ग्राहक लगातार नई सफलताएं हासिल कर रहे हैं, अपने आप में कई बदलाव ला रहे हैं, अपनी खुद की सफलताओं को चुनौती देते हुए आगे बढ़ रहे हैं। ग्राहकों में आतुरता और उत्तेजना लगातार दिखाई दे रही है। उनके लिए सफलता का अर्थ यात्रा की समाप्ति नहीं बल्कि नई यात्रा का प्रारंभ है। ग्राहकों का यह जूनून और उत्साह हमारे लिए प्रेरणादायी साबित हुआ है और हम उसी तरह से काम कर रहे हैं।  इसीलिए वर्ष 2020 के लिए मर्सिडीज-बेंज इंडिया का ब्रांड मंत्र "रेस्टलेस फॉर टुमारो" यह होगा।"

मार्केट के विस्तार के लिए मर्सिडीज-बेंज इंडिया ने कई उपक्रमों को योजना बनाई है। इसमें अनूठे उत्पाद, नए ग्राहकों और मार्केट्स तक पहुंच बढ़ाना, भारत में लक्ज़री इलेक्ट्रिक मोटरिंग स्थापित करना आदि शामिल होंगे। हमारी आंतरिक आतुरता, उत्तेजना इन कार्यक्रमों की मूल प्रेरणा होगी। नई यात्रा की शुरूआत, नई सफलताएं पाने की इच्छा और नए पड़ाव निर्माण करने की हमारी महत्वाकांक्षा उनकी प्रेरणा बनेगी।

पर्यावरण की सुरक्षा और संवर्धन के लिए मर्सिडीज-बेंज इंडिया के प्रयास:
'सस्टेनेबल लक्ज़री' अर्थात पर्यावरण की सुरक्षा और संवर्धन करते हुए लक्ज़री का निर्माण करने की योजना में मर्सिडीज-बेंज इंडिया ने 'सस्टेनेबिलिटी' पर सबसे अधिक जोर दिया है। इसके तीन भाग हैं - प्लैनेट अर्थात हमारी पृथ्वी, पीपल अर्थात लोग और प्रोडक्ट्स अर्थात कंपनी के उत्पाद। पर्यावरण का संतुलन बनाए रखने में मदद करने के लिए हमने कार्बन न्यूट्रलिटी हासिल करने के कई प्रयास शुरू किए हैं। पृथ्वी पर पर्यावरण की सुरक्षा में हमारे योगदान के रूप में हम अक्षय ऊर्जा पर जोर दे रहे हैं।
आज हमारे कारखाने में जरुरी कुल ऊर्जा में से करीबन 20% ऊर्जा अक्षय ऊर्जा स्त्रोतों (सौर ऊर्जा) से लायी जाती है। इस तिमाही तक यह मात्रा 45% तक बढ़ाने के लिए हम प्रयास करेंगे। उसके लिए 4000 से भी ज्यादा सोलर पैनल्स लगाए जाएंगे। मर्सिडीज-बेंज इंडिया के कारखाने में जरुरी कुल ऊर्जा में करीबन 45% ऊर्जा इन सोलर पैनल्स से आएगी।
इस प्रकार से हम हर साल करीबन 1.6 मेगावैट ऊर्जा का निर्माण करेंगे और उससे हर साल निर्माण होने वाले कार्बन डाय ऑक्साइड में 2600 टन की कटौती होगी।
इक्यू 1886: मर्सिडीज-बेंज इलेक्ट्रिक कार की विशेषताएं
प्रभावकारी और उच्चतम गुणवत्ता
अंदर और बाहर की प्रभावकारी सजावट, विशेषताएं, तकनीक इन सभी का सोच-समझकर किया हुआ मिलाप इक्यूसी एडिशन 1886 की विशेषता है। लोवर्स के साथ ब्लैक पैनल रेडिएटर ग्रिल और हाय-ग्लॉस ब्लैक एजिंग से इस कार का बाहरी रूप बहुत ही प्रभावकारी होगा। इक्यूसी एडिशन 1886 एक्सक्लूसिव मेटैलिक हाय-टेक सिल्वर रंग की होगी। मडगार्ड पर इक्यूसी एडिशन 1886 इन अक्षरों के साथ हाय-ग्लॉस ब्लैक बैज और 10-स्पोक 20-इंच के लाईट-अलॉय व्हील्स, काले और सफ़ेद रंग की सजावट यह इस कार की खासियत हैं।
कार के भीतर भी इसी शान को कायम रखा गया है। इंडिगो ब्ल्यू और ब्लैक रंग के अर्टिको कृत्रिम लेदर / डीनामिका माइक्रोफायबर अपहोल्स्ट्री की नई डिज़ाइन की सीट्स हैं और सीट बैकरेस्ट पर इक्यूसी एडिशन 1886 इन अक्षरों की एम्ब्रॉइडरी की गयी है। सेंटर कंसोल पर भी इन अक्षरों का बैज है। सिल्वर मैट्रिक्स लुक और इक्यूसी “EQC”  एम्ब्रॉइडरी के फ्लोर मैट्स से पता चलता है कि अंदरूनी सजावट पर बहुत ही बारीकी से ध्यान दिया गया है।
अच्छे वातावरण के लिए एनर्जाइजिंग पैकेज
इक्यूसी एडिशन 1886 में यात्रियों को सर्वोत्तम सुरक्षा और ड्राइविंग के आरामदायी अनुभव के लिए ड्राइविंग असिस्टेंस सिस्टम्स लगायी गयी हैं।  इसमें बर्मस्टर® सराउंड साउंड सिस्टम से आवाज का सबसे अच्छा अनुभव किया जा सकता है। इक्यूसी के भीतर बहुत ही शांत वातवरण में इस सिस्टम की पूरी क्षमता एक अभूतपूर्व अनुभव प्रदान करती है।
एनर्जाइजिंग पैकेज
यह पैकेज ऑन-बोर्ड भी है। एनर्जाइजिंग कम्फर्ट कंट्रोलर कार की अलग-अलग सिस्टम्स को मिलाकर लाइटिंग मूड से लेकर फ्रेग्रन्स और हवा के आयोनाइजेशन तक सभी फंक्शन्स को उचित स्तर तक चलाकर यात्रियों के लिए आरामदायी वातावरण निर्माण करता है। स्थिति और लोगों के लिए अनुकूल एनर्जाइजिंग प्रोग्राम के सुझाव के लिए यह एनर्जाइजिंग कोच गाड़ी और आसपड़ोस के वातावरण के बारे में जानकारी का इस्तेमाल करता है। उदहारण के तौर पर, ट्रैफिक, तापमान, यात्रा की दूरी जैसी जानकारी इस विश्लेषण में इस्तेमाल की जा सकती है। साथ ही ड्राइवर की वर्तमान स्थिति की जानकारी भी इसमें इस्तेमाल की जा सकती है। गर्मीन® वेअरेबल्स के साथ नेटवर्किंग से यह संभव हो पाता है (स्मार्टवॉचेस / फिटनेस ट्रैकर्स) मेमरी फंक्शन के साथ ड्राइवर और फ्रंट सीट पैसेंजर के लिए इलेक्ट्रिक एडजस्टेबल सीट्स भी एडिशन पैकेज की विशेषता है। 
चार्जिंग: सुविधाजनक और तेज
हर इक्यूसी की तरह इक्यूसी एडिशन 1886 में 7.4 केडब्ल्यू आउटपुट का वॉटर-कूल्ड ऑन-बोर्ड चार्जर (ओबीसी) है, इसलिए इसे घर या सार्वजानिक चार्जिंग स्टेशन्स पर अल्टेरनेटिंग करंट (एसी) के साथ चार्जिंग किया जा सकता है। डोमेस्टिक पॉवर सॉकेट की अपेक्षा मर्सिडीज-बेंज वॉलबॉक्स पर तीन गुना तेजी से चार्जिंग होता है।  यह इक्यूसी के लिए स्टैंडर्ड डीसी चार्जिंग से भी तेज़ होता है, इसके साथ अनुकूल मार्किट-स्पेसिफिक प्लग भी दिया जाता है। एसओसी (स्टेटस ऑफ़ चार्ज) के अनुसार इक्यूसी को सही चार्जिंग स्टेशन पर अधिकतम 110 केडब्ल्यू तक के आउटपुट के साथ चार्ज किया जा सकता है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad