श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस ने इंटरनेशनल बॉण्ड मार्केट्स से जुटाए 500 मिलियन अमेरिकी डालर - Karobar Today

Breaking News

Home Top Ad

Post Top Ad

Monday, January 13, 2020

श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस ने इंटरनेशनल बॉण्ड मार्केट्स से जुटाए 500 मिलियन अमेरिकी डालर


Shriram Transport Finance raises USD 500mn from International Bond Markets


भारत से जारी किया गया पहला अंतरराष्ट्रीय सार्वजनिक सामाजिक बॉण्ड  
मुंबई। भारत की सबसे बड़ी एसेट फाइनेंसिंग कंपनी श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस कंपनी लिमिटेड (‘एसटीएफसी‘ या ‘कंपनी‘) ने 5.100 प्रतिशत की दर पर 3.5 वर्ष की अवधि के लिए फिक्स्ड रेट सीनियर सिक्योर्ड 144ए/आरईजी एस बॉण्ड के लिए सफलतापूर्वक 500 मिलियन अमेरिकी डॉलर की कीमत हासिल की है। एसटीएफसी के इस बॉन्ड ट्रांजेक्शन के रूप में भारत की ओर से पहला अंतरराष्ट्रीय सार्वजनिक सामाजिक बॉण्ड जारी किया गया है। यह ईसीबी दिशानिर्देशों में छूट के बाद से कंपनी द्वारा चौथे सफल यूएस डॉलर बॉण्ड जारी करने का प्रतीक है।
एसटीएफसी का पहला सोशल बॉण्ड जारी करना कंपनी के सोशल फाइनेंस फ्रेमवर्क द्वारा निर्देशित है, जो आईसीएमए के सोशल बॉण्ड प्रिंसिपल्स से जुड़ा हुआ है। बॉण्ड से प्राप्त आय का उपयोग एमएसएमई फाइनेंसिंग और माइक्रोफाइनेंस के माध्यम से रोजगार सृजन के लिए किया जाएगा। एसटीएफसी ने सस्टेनालिटिक्स से सैकंड पार्टी ओपिनियन हासिल की है, जिसमें सोशल बॉण्ड फ्रेमवर्क को ‘विश्वसनीय और प्रभावशाली‘ और केपीएमजी से एक लिमिटेड एश्योरेंस रिपोर्ट के रूप में वर्णित किया गया है।
कंपनी ने एक श्रृंखलाबद्ध कॉल के माध्यम से हांगकांग, सिंगापुर, लंदन और अमेरिका में निवेशकों को एंगेज किया। मजबूत निवेशक फीडबैक के साथ ट्रांजेक्शन को 5.375 फीसदी क्षेत्र के प्रारंभिक मूल्य मार्गदर्शन के साथ शुरू किया गया था। उच्च गुणवत्ता वाले लॉन्ग ओनली निवेशकों द्वारा समर्थित एक मजबूत बुक बिल्ड करने के बाद, कंपनी मूल्य निर्धारण को 27.5 एमबीपीएस से 5.100 फीसदी तक रोकने में सक्षम थी।
बॉण्ड को निवेशकों की तरफ से जबरदस्त रेस्पॉन्स मिला और अंतिम ऑर्डर बुक में 2.20 बिलियन अमेरिकी डॉलर अधिक हासिल हुए और 4 गुना से अधिक ओवरसब्स्क्रिप्शन मिला। ट्रांजेक्शन के दौरान 50 फीसदी भागीदारी अमेरिकी निवेशकों की रही, जबकि एशिया से 37 फीसदी और ईएमईए से 13 प्रतिशत भागीदारी रही। 85 प्रतिशत भागीदारी एसेट मैनेजर्स की ओर से, 5 फीसदी बैंकों की तरफ से, 5 प्रतिशत बीमा से और 5 फीसदी निजी बैंकों और अन्य की भागीदारी देखी गई। ऑर्डर बुक में बड़ी संख्या में सोशल बॉण्ड इनवेस्टर्स की ओर से ब्याज और मांग प्राप्त हुई।
बार्कलेज, बीएनपी पारिबास, सिटीग्रुप, क्रेडिट सुइस, ड्यूश बैंक, एमिरेट्स एनबीडी कैपिटल, एचएसबीसी, आईएनजी, जेपी मॉर्गन और स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक ने ज्वाइंट बुकरनर्स और ज्वाइंट लीड मैनेजर्स के रूप में काम किया।
इस निर्गम की सफलता के बारे मंे जानकारी देते हुए श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस कंपनी के प्रबंध निदेशक और सीईओ उमेश रेवणकर ने कहा, ‘‘हम वैश्विक निवेशक समुदाय द्वारा निरंतर मजबूत भागीदारी निभाए जाने से खुश हैं। सामाजिक प्रभाव कंपनी के लिए एक फोकस क्षेत्र बना हुआ है और हम हमारे सोशल बॉण्ड के लिए महत्वपूर्ण प्रतिक्रियाएं हासिल करने पर प्रसन्नता का अनुभव कर रहे हैं। सामाजिक प्रभाव कुछ स्ट्रिक्ट एक्सक्लूजन के साथ हमारे प्राथमिकता क्षेत्र के समान है और अंतरराष्ट्रीय निवेशक समुदाय इसमें बहुत दिलचस्पी दिखा रहे हैं।‘‘

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad