एसबीआई और हिताची ने लॉन्च किया जॉइंट वेंचर - Karobar Today

Breaking News

Home Top Ad

Post Top Ad

Tuesday, March 5, 2019

एसबीआई और हिताची ने लॉन्च किया जॉइंट वेंचर


SBI and Hitachi launch joint venture


डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देगा एसबीआई और हिताची का संयुक्त उद्यम ‘एसबीआई पेमेंट सर्विसेज प्रा. लिमिटेड (एसबीआईपीएसपील)’

मुंबई। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) और हिताची लिमिटेड (हिताची) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी हिताची पेमेंट सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड (हिताची पेमेंट सर्विस) ने भारत सहित अन्य क्षेत्रीय देशों के व्यापारियों के लिए अत्याधुनिक डिजिटल पेमेंट प्लेटफार्म उपलब्ध करवाने वाले एक जॉइंट वेंचर ‘एसबीआई पेमेंट सर्विसेज प्रा. लिमिटेड’ (एसबीआईपीएसपील) को शुरू करने की घोषणा मुंबई में की।

यह संयुक्त उद्यम देश में डिजिटल भुगतान परिदृश्य को और विस्तारित करेगा; एसबीआई की ब्रांड वैल्यू और नेटवर्क के साथ हिताची की आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस और अन्य तकनीकी क्षमताओं का लाभ उठाते हुए एसबीआई पेमेंट सर्विसेज प्रा. लिमिटेड (एसबीआईपीएसपील) एक ऐसा डिजिटल पेमेंट प्लेटफार्म साबित होगा, जो व्यापारियों के सभी सेगमेंट की आवश्यकता के अनुरूप नवीन उत्पादों की पेशकश करेगा।

भारतीय स्टेट बैंक के चेयरमैन  रजनीश कुमार ने कहा, ‘इस संयुक्त उद्यम के माध्यम से, हम अपने ग्राहकों को तकनीकी रूप से बेहतर और निर्बाध सेवाएं प्रदान करके मर्चेंट डिजिटल पेमेंट की दुनिया में शीर्ष अधिग्रहणकर्ता के रूप में अपनी स्थिति बनाए रखने का लक्ष्य रखते हैं। हम व्यापारी केंद्रित डिजिटल विकास समाधानों के माध्यम से भारत के अछूते भारतीय शहरों-कस्बों तक पहुंचने की रणनीति विकसित करने के लिए बिजनेस एनालिटिक्स का भी उपयोग करेंगे।’

इस आधिकारिक लॉन्च को मुंबई के होटल ट्राइडेंट में एक शानदार कार्यक्रम में घोषित किया गया, जिसमें भारत में जापान के राजदूत केनजी हिरामत्सु, भारतीय स्टेट बैंक के अध्यक्ष रजनीश कुमार, हिताची लिमिटेड के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी  तोषाकी जिगशिहारा, भारतीय स्टेट बैंक में रिटेल और डिजिटल बैंकिंग के एमडी  पी. के. गुप्ता सहित भारतीय स्टेट बैंक, एसबीआई और हिताची के विशिष्ट ग्राहक, भागीदारों और अन्य प्रमुख अधिकारी मौजूद थे।

भारत में जापान के राजदूत  केनजी हिरामत्सु ने कहा, ‘जापान और भारत दोनों के संबंध बहुुत अच्छे रहे हैं, इन्हें और मजबूत सहयोग की आवश्यकता है। मुझे विश्वास है कि भारत की सबसे बड़ी बैंक और जापान की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक की यह साझेदारी देश में डिजिटल भुगतान को नई ऊंचाइयों तक ले जाएगी।’

जापान के हिताची लिमिटेड के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी  तोषाकी हिगिहारा ने कहा, ‘एसबीआई के साथ हिताची का संयुक्त उपक्रम, एसबीआई के मजबूत ग्राहक नेटवर्क का लाभ उठाते हुए भारत में डिजिटल भुगतान के परिदृश्य के विकास में और योगदान देगा। यह भारत और अन्य देशों में डिजिटल समाधान प्रदान करके लोगों के जीवन को बेहतर बनाने वाले हिताची के दृष्टिकोण के अनुरूप कदम है।’

भारत में सबसे बड़े सार्वजनिक वाणिज्यिक बैंक के रूप में, एसबीआई के 425 मिलियन से अधिक ग्राहक हैं, लगभग 6,00,000 पीओएस टर्मिनल, 16 लाख से अधिक मर्चेंट पेमेंट एकेप्टनेंस टच पॉइंट हैं। बैंक ने अपने लेनदेन का 80 फीसदी से अधिक वैकल्पिक चैनलों पर स्थानांतरित करने में सफलता हासिल की है। यह संयुक्त उद्यम इस पहल को और आगे ले जाएगा।

प्रौद्योगिकी की अगुवाई में नकदी और डिजिटल भुगतान समाधान जैसे एटीएम सेवा, कैश रिसाइकलिंग मशीन, पीओएस प्रोसेसिंग सेवाओं, टोल और ट्रांजिट सॉल्यूशंस के साथ हिताची पेमेंट सर्विसेज वित्तीय संस्थानों को सशक्त बनाती है। यह 2011 से एसबीआई के कार्ड और डिजिटल स्वीकृति भुगतान नेटवर्क के लिए प्रौद्योगिकी और प्रबंधन सेवाएं प्रदान कर रही है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad