आय फाइनेंस पूरे भारत में कर रही है विस्तार - Karobar Today

Breaking News

Home Top Ad

Post Top Ad

Tuesday, July 30, 2019

आय फाइनेंस पूरे भारत में कर रही है विस्तार



नई दिल्ली ।  कैपिटलजी समर्थित ऋणदाता कंपनी आय फायनेंस ने चालू वित्त वर्ष में आक्रामक रूप से पूरे भारत में विस्तार करने की योजनाओं की घोषणा की है। एक अत्यंत सफल वर्ष के बादजिसमें आय 1000करोड़ रुपये के एयूएम आंकड़े की उपलब्धि तक पहुंचीइस फ़िनटेक ऋणदाता भारतीय सूक्ष्म उद्यमों की एक बड़ी संख्या की क्रेडिट जरूरतों को पूरा करने के लिए 67 नई शाखाएं खोलेगी। 

आय तेजी से अपनी पहुंच का विस्तार कर रहा है और इस दौर में आय महाराष्ट्रगुजरातबिहारझारखंडछत्तीसगढ़चंडीगढ़ और हिमाचल प्रदेश के नए राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में प्रवेश कर रहा है और साथ ही तमिलनाडुराजस्थानमध्य प्रदेशउत्तराखंड और कर्नाटक में अपनी शाखा की उपस्थिति को मजबूत कर रहा है। इस विस्तार के बाद आय की शाखाओं की पहुंच 18 भारतीय राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में171 शाखाओं तक पहुंच जाएगी।

संजय शर्मा और विक्रम जेटली ने 2014 में भारत के सूक्ष्म उद्यमों को सस्ती ऋण की पेशकश करके उन्हें सशक्त बनाने के लिए आय फाइनेंस की शुरुआत की थीऔर तब से यह एमएसएमई ऋणदाता125 हजार से अधिक शुरुआती स्तर के व्यवसायों को औपचारिक अर्थव्यवस्था में ला चुका है। और इन अतिरिक्त 67 शाखाओं के माध्यम से आय ढेर सारे व्यवसायों के विकास का समर्थन करेगा और नए युग के भारत में उनकी वृद्धि को शक्ति देगा।

आय फाइनेंस के एमडी और संस्थापक  संजय शर्मा ने कहा कि वह इन नई शाखाओं की संभावनाओं से बहुत उत्साहित हैं। “आय परहम एक संरचित उद्योग-समूह-एंटरप्राइज दृष्टिकोण का पालन करते हैं और समूह आधारित पद्धति का उपयोग करते हैं जो मजबूत जोखिम चयन के लिए प्रत्येक उद्योग क्लस्टर की अंतर्दृष्टि का उपयोग करता है। यह आगे 70 उद्योग समूहों में 1,25,000 से अधिक ग्राहक ऋणों को दी गई सेवाओं से एकत्रित आंकड़ों का विश्लेषण करके बेहतर किया जाता है। इन अतिरिक्त 67 शाखाओं के खुलने के साथजिनमें से 30 को पहले ही चालू किया जा चुका हैहमारे द्वारा वित्त पोषित सूक्ष्म उद्यमों की संख्या के साथ समूहों की संख्या काफी बढ़ जाएगी।” 

साल की छोटी अवधि के भीतरआय एक स्टार्ट अप से एक मिड-आकार की कंपनी बन गई है और प्रसार करने की इसकी क्षमता को इसके सभी फंडिंग पार्टनर्स - ऋण और साथ ही इक्विटी से जबरदस्त समर्थन द्वारा मान्य किया गया है। यह एकमात्र भारतीय वित्त कंपनी है जिसे कैपिटल द्वारा वित्त पोषित किया जाता हैऔर साथ ही इसके निपुण निवेशकों की सूची में सैफ पार्टनर्स,फाल्कन एजएकिआॅनएलजीटी और एमएजे इंवेस्ट शामिल हैंजो भारत के सूक्ष्म उद्यमियों के लिए एक समावेशी पारिस्थितिकी तंत्र बनाने के इसके मिशन में इसका समर्थन करते हैं।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad