एट्सी मिला जयपुर के पारंपरिक कलाकारों से - Karobar Today

Breaking News

Home Top Ad

Post Top Ad

Monday, August 12, 2019

एट्सी मिला जयपुर के पारंपरिक कलाकारों से

 Etsy meets with Jaipur traditional artists





  
जयपुर: अनूठी, हस्तशिल्प और रचनात्मक वस्तुओं के वैश्विक बाजार एट्सी ने जयपुर में ‘दएट्सीकलेक्टिव’ का आयोजन किया। इसमें शहर के सूक्ष्म-उद्यमियों और कलाकारों का उत्साह वर्धन किया गया। 

#दएट्सीकलेक्टिव एक सेशन है जहां चर्चा की जाती है और सूचनाएं साझा की जाती है। साथ ही यह हस्तशिल्प और रचनात्मकता के लिए जुनून रखने वाले सभी लोगों को एक साथ लाता है।

इस कार्यक्रम की शुरुआत जयपुर स्थित एट्सी विक्रेता मेधाविनी यादव के इंटरैक्टिव सेशन से हुई। मेधाविनी यादव एट्सी पर ‘रेशाबायमेधाविनी’ नाम से एथिकली सस्टेनेबल कपड़ों की दुकान चलाती हैं। इसके बाद सभी सहभागियों को एट्सी के प्रतिनिधियों से बातचीत करने और एट्सी पर दुकान खोलने और ऑनलाइन बिक्री से जुड़े सवालों के जवाब दिए गए। 

रचनात्मकता और हस्तशिल्प की भावना का जश्न मनाने के लिए इस कार्यक्रम के अंत में डीआईवाय कार्यशाला का आयोजन किया। इसमें क्ले बोटिक की दीक्षा गुप्ता ने प्रतिभागियों को क्रॉकरी पेंटिंग के गुर सिखाए। 

एट्सी कलेक्टिव पर टिप्पणी करते हुए एट्सी में भारत के मैनेजिंग डायरेक्टर हिमांशु वर्धन ने कहा, “हम भारत में कारीगरों के समुदाय और स्थानीय छोटे विक्रेताओं को बढ़ावा देने के लिए जमीनी स्तर पर काम करने में विश्वास रखते हैं। इसके लिए एट्सी कलेक्टिव उनके साथ व्यक्तिगत तौर पर जुड़ने के लिए सबसे अच्छा माध्यम है। एट्सी कलेक्टिव इन रचनात्मक लोगों को डिजिटल स्पेस में गुंजाइश तलाशने और ऑनलाइन बिक्री के बारे में अधिक जानने में उनकी मदद करता है। इस वैश्विक मंच ने अपना ध्यान छोटे निर्माताओं पर केंद्रित किया है, हम हर रचनात्मक व्यक्ति को प्रोत्साहित करना चाहते हैं - चाहे वह जयपुर की एक गृहिणी हो या एक कारिगर, जो अपनी शर्तों पर उद्यमी बनना चाहता हो। जयपुर में हस्तकला में लोगों ने जो रुचि दिखाई उससे मैं बहुत प्रभावित हूं।”

इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में लोगों ने भाग लिया, खासकर महिलाओं की संख्या ज्यादा रही। संयोग से, एट्सी पर भी 87% विक्रेता महिलाएं हैं। 97% लोग अपने घरों से अपना रचनात्मक व्यवसाय संचालित करते हैं। वैश्विक रूप से एट्सी पर 2.1 मिलियन विक्रेता हैं, जिसमें दुनिया भर के 80 से अधिक देशों के 39.4 मिलियन खरीदार आते हैं।

एट्सी कलेक्टिव का उद्देश्य भारत में विक्रेताओं को पहचानना है और उनके अनुभव को भारत के बड़े रचनात्मक समुदाय के साथ साझा करने में उनकी मदद करना है। एट्सी कलेक्टिव की शुरुआत 2018 में हुई और भारतभर में 38 के करीब कलेक्टिव्स का आयोजन किया है। इसमें टियर-1 और टियर-2 शहर शामिल हैं। कुछ शहर जहां एट्सी कलेक्टिव ने यात्रा की है वे हैं- दिल्ली, मुंबई, बैंगलोर, गोवा, अहमदाबाद, भोपाल, कोलकाता, पुडुचेरी, जम्मू, चेन्नई, कोच्चि, पुणे, गुवाहाटी, लखनऊ, तिरुवनंतपुरम, और कुछ अन्य शहर। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad