यस बैंक ने सितंबर तिमाही के वित्तीय परिणामों की घोषणा की - Karobar Today

Breaking News

Home Top Ad

Post Top Ad

Monday, November 4, 2019

यस बैंक ने सितंबर तिमाही के वित्तीय परिणामों की घोषणा की




Yes Bank quarterly result





1.    कंपनी का वित्तीय प्रदर्शन
122 करोड़ पर पीबीटी, वन टाइम डीटीए एडजेस्टमेंट से प्रभावित पीएटीः 
वित्तीय वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में एनआईआईआई 2,186 करोड़ रुपए
नॉन इंटरेस्ट इंकम 946 करोड़ रुपए पर; 10 फीसदी क्रमिक विकास के साथ रिटेल बैंकिंग शुल्क में निरंतर गति, डिजिटल बैंकिंग नेतृत्व वाली फी स्ट्रीम्स में तेजी
पीबीटी 122 करोड़ रुपए पर, वन टाइम डीटीए समायोजन से प्रभावित पीबीटी 709 करोड़ रुपए, इस वन टाइम समायोजन प्रभाव को छोड़ कर, एडजेस्टमेंट पीएटी 109 करोड़ रुपए पर
बैलेंस शीट में ग्रेन्युलेरिटी एक्सेलेरेशन:
एडवांस 2,24,505 करोड़ रुपए पर ; 30 फीसदी वर्ष-दर-वर्ष प्रगति के साथ रिटेल एडवांस में निरंतर वृद्धि, वित्तीय वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही के 14 फीसदी की तुलना में अब एडवांस में 20 फीसदी बढ़त
क्रेडिट कार्ड बुक 1,000 करोड़ रुपए को पार कर गई है; 6.5 लाख$ कार्ड कार्यबल में; वित्तीय वर्ष 2020 की पहली छमाही में 3,100 करोड़ रुपए खर्च
डिपोजिट 2,09,497 करोड़ रुपए पर; वित्तीय वर्ष 2020 की पहली तिमाही के 30.2 फीसदी की तुलना में सीएएसए अनुपात वित्तीय वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में सीएएसए अनुपात 30.8 फीसदी सुधरा, वित्तीय वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में सीएएसए$ रीटेल टीडीएस 60.3 पर जबकि पिछले माह यह 58.2 फीसदी था, रिटेल टीडीएस में 18.6 फीसदी वर्ष-दर-वर्ष विकास
अंत की ओर रेकिग्निशन साइकल:
जीएनपीए 7.39 फीसदी, एनएनपीए 4.35 फीसदी
वित्तीय वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही के लिए 69 बीपीएस पर क्रेडिट लागत; वित्तीय वर्ष 2020 की पहली छमाही के लिए क्रेडिट कोस्ट 100 बीपीएस
रिटेल और एसएमई बुक- डिलेक्वेंसी का बेस्ट इन क्लास होना जारी है
वित्तीय वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही के लिए एनबीएफसी, एचएफसी और इलेक्ट्रिसिटी जैसे प्रमुख क्षेत्रों में सकल बकाया में कमी

2.    संरचनात्मक रूपांतरण की प्रक्रिया
वृद्धिशील विकास के अवसरों को पकड़ने के लिए बैंक की पूंजी स्थिति को मजबूत बनानाः
एक ग्लोबल निवेशक से 1.2$ बिलियन डॉलर के निवेश का एक बाइंडिंग ऑफर विनियामक और अन्य आवश्यक अनुमोदन के अधीन
कई अन्य नॉन-बाइंडिंग लेकिन मजबूत बोलियां घरेलू और वैश्विक सांस्थानिक निवेशकांे और परिवारों से प्राप्त की
बोर्ड बैंक के लिए सबसे इष्टतम पूंजी समाधान का पता लगाने के लिए सभी बोलियों का मूल्यांकन कर रहा है
वित्तीय वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही के लिए 273$ मिलियन यूएस डॉलर वाइड क्यूआईपी रूट में सफलता
वित्तीय वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही के लिए सीईटी-आई अनुपात 8.7 फीसदी तक विस्तारित, पिछली तिमाही में यह 8.0 था
मुख्य फोकस क्षेत्रों में मानव पूंजी क्षमताओं का निर्माणः
सुदृढ़ अनुपालन, प्रशासन और नियंत्रण संस्कृतिः हेड ऑफ गवर्नेंस कंट्रोल, सीएफओ और सीओओ की नियुक्ति
प्रतिभाआंे को लुभाना जारीः मुख्य रूप से रिटेल/ ब्रांच बैंकिंग में वित्तीय वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में 2,466 लोगों की वृद्धि
डिजिटल भुगतान स्पेस में निरंतर वर्चस्वः
यूपीआई लेनदेन ने तिमाही में 1 बिलियन को पार किया ; पिछले पूरे वर्ष की तुलना में वित्तीय वर्ष 2020 की पहली छमाही का हिस्सा भारी रहा; वित्तीय वर्ष 2020 की पहली छमाही के लिए वॉल्यूम मार्केट शेयर 40 फीसदी है
इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की ओर से आयोजित स्टार्टअप समिट में 56 प्रतिस्पर्धी बैंकों के बीच डिजिटल भुगतान में समग्र प्रदर्शन के लिए डिजिधन मिशन डिजिटल पेमेंट अवॉर्ड 2018-19 जीता

3.     लाभ और हानि
वित्तीय वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में एनआईआई 2,186 करोड़ रुपए पर, तिमाही के दौरान ताजा स्लिपेज के कारण इसमें 228 करोड़ का प्रभाव शामिल है; एनआईएम 2.7 फीसदी पर
नॉन-इंटरेस्ट इंकम 946 करोड़ रुपए, रिटेल बैंकिंग शुल्क में 10 फीसदी अनुक्रमिक वृद्धि। डिजिटल बैंकिंग नेतृत्व वाली फीस में अच्छा विकास
वित्तीय वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में परिचालन व्यय 1,673 करोड़ रुपए पर
वित्तीय वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में प्री-प्रोविजनिंग ऑपरेटिंग प्रॉफिट 1,458 करोड़ रुपए पर; 1,336 करोड़ रुपए के प्रोविजन
वित्तीय वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही के लिए प्रॉफिट बिफॉर टैक्स 122 करोड़ रुपए पर, वित्तीय वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में नेट लोस 600 करोड़ रुपए, क्योंकि कॉर्पोरेट टैक्स दर शासन में बदलाव से 709 करोड रुपए का वनटाइम डीटीए एडजेस्टमेंट हुआ, इस प्रभाव को छोड़कर समायोजित नेट प्रॉफिट 109 करोड़ पर
30 सितंबर, 2019 को बुक वैल्यू 109.0 रुपए प्रति शेयर्स
4.     बैलेंस शीट
2,24,505 करोड़ रुपए अग्रिम के साथ कुल संपत्ति 3,46,576 करोड़ रुपए
डिपोजिट 2,09,497 करोड़ रुपए पर, वित्तीय वर्ष 2020 की पहली तिमाही के 30.2 फीसदी की तुलना में सीएएसए अनुपात वित्तीय वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में सीएएसए अनुपात 30.8 फीसदी सुधरा, वित्तीय वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में सीएएसए$ रीटेल टीडीएस 60.3 पर जबकि पिछले माह यह 58.2 फीसदी था, रिटेल टीडीएस में 18.6 फीसदी वर्ष-दर-वर्ष विकास
रिटेल बैंकिंग एडवांस 20 फीसदी वर्ष-दर-वर्ष बढ़ा, 20 फीसदी एडवांस से (30 सितंबर 2018 तक 14.3 फीसदी तक)।

कुल पूंजी पर्याप्तता 16.3 फीसदी पर कुल पूंजी निधि 51,030 करोड़ के साथ। टियर-1 अनुपात और सीईटी-1 अनुपात क्रमशः 11.5 फीसदी और 8.7 फीसदी है
अगस्त 2019 में क्यूआईपी द्वारा बड़े पैमाने पर पूंजीगत अनुपात में अनुक्रमिक विस्तार किया गया और जैविक पूंजी अभिवृद्धि की गई
रिस्क वेटेड एसेट्स पिछली तिमाही के 3,22,982 करोड़ रुपए की तुलना में में 3,13,228 करोड़ रुपए के थे
30 सितंबर, 2019 तक एलसीआर 127.1 फीसदी पर, नियामक आवश्यकताओं से काफी अधिक
वित्तीय वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में ग्रोस स्लिपेज 5,945 करोड़ रुपए; रिकवरी और अपग्रेड से इस तिमाही के दौरान लगभग 867 करोड़ जुटे
वित्तीय वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही के दौरान क्रेडिट कोस्ट 69 बीपीसी रही, वित्तीय वर्ष 2020 की पहली छमाही के दौरान क्रेडिट कोस्ट 100 बीपीएस
वित्तीय वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही के दौरान बैंक ने सकल बकाया व्यय मैटेरियल में कमी देखी
लगभग 2,300 करोड़ रुपए इलेक्ट्रिसिटी कंपनीज के लिए, और
लगभग 1,750 करोड़ रुपए एनबीएफसी, एचएफसी के लिए
कुल मिलाकर पोर्टफोलियो को यस बैंक के नॉलेज केंद्रित क्षेत्रों में महत्वपूर्ण तैनाती के साथ अच्छी तरह से वितरित किया गया है जहां बैंक ने विशेष संबंध, उत्पाद और जोखिम प्रबंधकों (3 आई रिलेशन एंड रिस्क मैनेजमेंट ऑर्गनाइजेशनल फ्रेमवर्क) के साथ काफी क्षेत्रीय विशेषज्ञता विकसित की है

6.     डिजिटल इंडिया के न्यू एज पेमेंट में नेतृत्वकारी भूमिका में यस बैंक
न्यू ऐज पेमेंट में प्रभुत्व
इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की ओर से आयोजित स्टार्टअप समिट में यस बैंक ने 56 प्रतिस्पर्धी बैंकों के बीच डिजिटल भुगतान में समग्र प्रदर्शन के लिए डिजिधन मिशन डिजिटल पेमेंट अवॉर्ड 2018-19 जीता; रिटेल और कॉर्पोरेट कस्टमर के बीच न्यू एज पेमेंट टेक्नोलॉजी
यूपीआईः अपनी शुरुआत के बाद से यूपीआई आधारित मर्चेंट लेनदेन के प्रसंस्करण के लिए लगातार 1 वें स्थान पर रहा
लेन-देन वॉल्यूम ने तिमाही में 100 करोड़ रुपए को पार किया, वर्ष-दर-वर्ष वॉल्यूम से 265 फीसदी अधिक और वैल्यू में 263 फीसदी अधिक
वॉल्यूम के आधार पर वित्तीय वर्ष की दूसरी तिमाही में मार्केट शेयर 40 फीसदी
वित्त वर्ष 2020 की पहली छमाही में लगभग 3 लाख करोड़ रुपए की राशि के साथ 180$ करोड़ लेनदेन; पूरे वित्त वर्ष 19 के लिए लेन-देन के वॉल्यूम और वैल्यू को पार कर गया
आईएमपीएसः पियर बैंक कैटेगिरी में एनपीसीआई की ओर से फर्स्ट रैमिटर बैंक की रैंकिंग दी गई
लेनदेन वॉल्यूम 80 फीसदी वर्ष-दर-वर्ष बढा, तिमाही के लिए 6 करोड़ लेनदेन
एईपीएस: एईपीएस पर एक अग्रणी बैंक
सितम्बर, 19 में लेनदेन मात्रा के आधार पर 41 फीसदी मार्केट शेयर
वित्तीय वर्ष की दूसरी तिमाही में वॉल्यूम के आधार पर 10 करोड़ से अधिक लेनदेन संसाधित, वर्ष-दर-वर्ष आधार पर 189 फीसदी की बढ़त
एपीआई बैंकिंगः प्लेटफॉर्म थ्रूपुट में वॉल्यूम के हिसाब से 183 फीसदी वर्ष-दर-वर्ष और वैल्यू के लिहाज से 186 फीसदी वर्ष-दर-वर्ष की वृद्धि
1,200$ कॉर्पोरेट्स ऑन-बोर्डेड, पिछले क्वार्टर के 1,000$ कॉर्पोरेट्स से
रुपया आरेखण व्यवस्था के तहत इंडीविजुअल इनवॉर्ड रेमिटेंस वॉल्यूम में वर्ष-दर-वर्ष 86 फीसदी बढ़ा और वैल्यू में 63 फीसदी की बढ़त हुई
एनएसीएच ई जनादेशः कॉर्पोरेट ग्राहक अधिग्रहण में सबसे बड़ा बाजार हिस्सेदारी 58 फीसदी है
बेहतर ऑफर देने के लिए न्यूज ऐज टेक्नोलॉजी में अग्रणी
यस मोबाइलः पंजीकृत उपयोगकर्ता आधार में 55.4 फीसदी वर्ष-दर-वर्ष का विकास; मूल्य और मात्रा में क्रमशः वित्तीय लेनदेन 61.3 फीसदी और 52.5 फीसदी वर्ष-दर-वर्ष की वृद्धि हुई
डेबिट कार्डः वित्तीय वर्ष 2020 की पहली छमाही तक 3,000 करोड़ रुपए की राशि के 2 करोड़ से अधिक लेनदेन
यस रोबोट- व्यक्तिगत बैंकिंग सहायकः 1 करोड़ संपर्क अब तक; जल्द ही एलेक्सा, गूगल असिस्टेंट और सिरी पर आईओटी प्लेटफार्मों पर बैंक की सेवाएं प्रदान करने के लिए उपलब्ध हो सकता है
डिजिटल इंडिया का सहभागी
बैंकर 22 स्मार्ट शहरों में से 15 शहरों में यस बैंक के डिजिटल बैंकिंग समाधानों को नियुक्त करते हैं
महा आईटी टैक्स भुगतान के संग्रह के लिए पूरे राज्य के लिए एकमात्र यूपीआई बैंकर
पश्चिम बंगाल सरकार के लिए पंचायत और ग्रामीण विकास विभाग के साथ साझेदारी करते हुए डीएमटी और एईपीएस के लिए एसएचजी के सदस्यों और बीसी एजेंट को सशक्त बनाना
यूपीआई के जरिए आरडीए के तहत इनवॉर्ड रेमिंटेंस को लॉन्च किया

7.      विस्तार व ज्ञान आधारित पहल
बैंक का शाखा नेटवर्क 1,123 और एटीएम / बीएनए / सीआरएम नेटवर्क 1,459 पर था
यस बैंक ने क्वालीफाइंग इंस्टीट्यूशन प्लेसमेंट (क्यूआईपी) रूट के माध्यम से 1,930 करोड़ रुपये जुटाए। इस इश्यू पर विदेशी के साथ-साथ घरेलू क्यूआईबी से भी मजबूत प्रतिक्रिया देखी गई
30 सितंबर, 2019 को समाप्त तिमाही के लिए घरेलू मुद्रा श्रेणी में ब्लूमबर्ग लीग टेबल रैंकिंग में नंबर 3 एमएलए (मैनडेटेड लीड अरेंजर) रैंक दिया गया।
यस बैंक ने एमएसएमई के लिए स्मार्ट एज लॉन्च कियाः अपनी तरह का एक पहला  कर्ज देने वाला मॉडल, जिसे वित्तीय स्टेटमेंट की आवश्यकता नहीं है और यह जीएसटी रिटर्न और ऑपरेटिव बैंक खातों के आधार पर क्रेडिट मूल्यांकन करता है, जिसका उपयोग सुरक्षित कार्यशील पूंजी का लाभ उठाने के लिए किया जा सकता है। ओवरड्राफ्ट (ओडी), लेटर ऑफ क्रेडिट (एलसी) और बैंक गारंटी (बीजी) के रूप में सिक्योर वर्किंग कैपिटल 1 - 3 करोड़ तक
यस स्केल कार्यक्रम ने यस स्केल बिज कॉन्टेक्ट लॉन्च किया है, जो बैंक द्वारा अपनी तरह का पहला ऐप है, जो क्यूरेटेड तकनीक और बैंकिंग समाधानों के माध्यम से एमएसएमई संघों के संचालन को डिजिटल बनाने के लिए बनाया गया है। इसके अलावा यस स्केल बिजनेस सॉल्यूशंस लॉन्च किया गया, शैक्षणिक संस्थानों, लॉजिस्टिक्स और हेल्थकेयर के लिए एक बीस्पॉक सॉल्यूशन मॉडल
यस बैंक ने माइक्रोसॉफट के साथ साझेदारी करते हुए अपनी तरह का पहला, एआई सक्षम चैटबोट, यसरोबोट को एडवांस एनएलपी इंजन एलयुआईएस (लैंगवेज अंडरस्टेंडिंग इंटेलीजेंस सर्विस ) और अन्य संज्ञानात्मक सेवाओं के साथ मजबूत किया, जो मानवीय हस्तक्षेप की आवश्यकता बिना ग्राहकों के विकसित बैंकिंग जरूरतों को समझने और हल करने में सक्षम है।
यस बैंक ने स्टार्टअप पंजाब के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए, जो स्टार्टअप के लिए सेवाओं, उत्पाद ऑफर और मेंटरशिप मार्गदर्शन के लिए बैंक का विस्तार करने में सक्षम होगा
8.     पुरस्कार और मान्यताएं
यस बैंक ने कॉर्पोरेट इंटरनेट बैंकिंग में मजबूत सुरक्षा प्रक्रियाओं को सफलतापूर्वक लागू करने और कार्यान्वित करने के लिए बैंकर टेक प्रोजेक्ट्स अवार्ड्स 2019 में साइबर सुरक्षा में विजेता का पुरस्कार हासिल किया
यस बैंक ने एशियन बैंकिंग एंड फाइनेंस अवार्ड समारोह में इंडिया डोमेस्टिक कैश मैनेजमेंट बैंक ऑफ द ईयर, इंडिया डोमेस्टिक ट्रेड फाइनेंस बैंक ऑफ द ईयर, इंडिया डोमेस्टिक प्रोजेक्ट फाइनेंस बैंक ऑफ द ईयर और इंडिया एसएमई बैंक ऑफ द ईयर अवॉर्ड प्राप्त किया।
येस बैंक एकमात्र भारतीय बैंक बन गया - 130 बैंको के बीच विश्व स्तर पर जिम्मेदार बैंकिंग (पीआरबी) के लिए सिद्धांतों के संस्थापक हस्ताक्षरकर्ता बन गया। यस बैंक, संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण वित्त पहल (यूएनईपी एफआई) और 29 अन्य बैंकों द्वारा संयुक्त रूप से विकसित किए गए जिम्मेदार बैंकिंग के सिद्धांतों को संयुक्त राष्ट्र महासभा में आधिकारिक तौर पर न्यूयॉर्क में यूएस क्लाइमेट एक्शन समिट से पहले लॉन्च किया गया था। 47 संस्थापक हस्ताक्षरकर्ताओं या फाउंडिंग सिगनेटरी की सामूहिक संपत्ति में 47 ट्रिलियन यूएस डॉलर है, जो वैश्विक बैंकिंग क्षेत्र के एक तिहाई का प्रतिनिधित्व करता है

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad