आईसीआईसीआई फाउंडेशन ने आईसीएआर के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए - Karobar Today

Breaking News

Home Top Ad

Post Top Ad

Thursday, February 27, 2020

आईसीआईसीआई फाउंडेशन ने आईसीएआर के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए



 ICICI Foundation inks MoU with Indian Council of Agricultural Research

मुंबईः आईसीआईसीआई समूह की सीएसआर इकाई आईसीआईसीआई फाउंडेशन फॉर इनक्लूसिव ग्रोथ (आईसीआईसीआई फाउंडेशन) ने ग्रामीण विकास की दिशा में कृषि में समावेशी विकास के लिए भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर करने की घोषणा की। 
इस एमओयू के तहत आईसीआईसीआई फाउंडेशन अपने ‘‘रूरल लाइवलीहुड प्रोग्राम‘‘ के माध्यम से आईसीएआर के ज्ञान और अनुसंधान का लाभ उठाएगा, और 29 राज्यों के 1,000 से अधिक गांवों में फैले किसानों के लिए आईसीआईसीआई फाउंडेशन के मौजूदा प्रशिक्षण कार्यक्रमों को और बेहतर करेगा। इसके अलावा, आईसीआईसीआई फाउंडेशन आईसीएआर के साथ विभिन्न वस्तुओं की उत्पादकता बढ़ाने के लिए विभिन्न नए पाठ्यक्रमों का मूल्यांकन करेगा और उन्हें तैयार करेगा।
दोनों साझेदार किसानों के लाभ के लिए प्रशिक्षण और क्षमता निर्माण के लिए तकनीकी ज्ञान और जानकारी साझा करने में सहयोगी कार्यक्रम भी आयोजित करेंगे। वे किसानों के जीवन को छूने के लिए आरएंडडी से संबंधित और आउटरीच गतिविधियां भी आयोजित करेंगे। इसके अतिरिक्त, समझौते के तहत एकीकृत गतिविधियों (जैसे डेयरी, मत्स्य पालन, कृषि, बागवानी, आदि) के साथ एक एकीकृत कृषि दृष्टिकोण पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि किसान एक स्थायी आजीविका कमाने में सक्षम हैं।
आईसीआईसीआई फाउंडेशन के अध्यक्ष श्री सौरभ सिंह और आईसीएआर के महानिदेशक डॉ त्रिलोचन मोहपात्रा ने पिछले सप्ताह नई दिल्ली में इस समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।
इस पहल पर टिप्पणी करते हुए आईसीआईसीआई फाउंडेशन के अध्यक्ष सौरभ सिंह ने कहा, ‘‘हम आईसीआईसीआई फाउंडेशन में विश्वास करते हैं कि गाँवों के व्यापक सामाजिक-आर्थिक विकास के माध्यम से ही भारत में विकास का मार्ग प्रशस्त हो सकता है। आईसीएआर कृषि विज्ञान में अपने ज्ञान और अनुसंधान को किसानों के लाभ के लिहाज से साझा कर रहा है। इसके साथ ही इस कदम से देश की पोषण सुरक्षा भी  सुनिश्चित की जा सकेगी। आईसीएआर के साथ समझौता ज्ञापन के साथ, आईसीआईसीआई फाउंडेशन एक पुल के रूप में कार्य करेगा जो कृषि उत्पादकता और किसानों की आय में उल्लेखनीय सुधार के प्रयास में सीमांत किसानों को आईसीएआर से जोड़ेगा। इसके अलावा इस साझेदारी के माध्यम से बड़ी कृषि-मूल्य श्रृंखला विकसित करने पर भी ध्यान केंद्रित किया जाएगा।‘‘
आईसीएआर के महानिदेशक डॉ त्रिलोचन मोहपात्रा ने कहा, ‘‘आईसीएआर संस्थानों, विश्वविद्यालयों और कृषि विज्ञान केंद्र के पास जो ज्ञान उपलब्ध है, उसे व्यापक तौर पर किसानों तक पहुंचाने के लिहाज से यह  समझौता ज्ञापन एक महत्वपूर्ण कदम है। इसके साथ-साथ विभिन्न अनुसंधानों के अनुप्रयोग से संबंधित विशेषज्ञों के ज्ञान का भी व्यापक प्रसार हो सकेगा।‘‘

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad